Breaking News

बिहार के सिनेमा घरों में आर्टिकल 15 मूवी नहीं चलने देगी ब्राह्मण समाज। इडिया न्यूज लाइव डाट नेट न्यूज टीम रिपोर्टर रजनीश कुमार

रजनीश कुमार की एक रिपोर्ट

पटना:आज अखिल भारतीय बहुभाषीय ब्राह्मण महासंघ युवा प्रकोष्ट के प्रदेश अध्यक्ष रजनीश तिवारी के आवाहन पर संगठन के प्रदेश महासचिव अमरेंद्र त्रिपाठी के आवास बाबा लॉज बलदेव भवन न्यू पुनाईचक पटना में बैठक का आयोजन किया गया जिसमे दर्जनों संगठन के मुख लोग शामिल हुए इस बैठक की अध्यक्षता युवा परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रजनीश तिवारी ने किया  बैठक में निर्देशक अनुभव सिन्हा की 28 जून को रिलीज हो रहीं हिंदी फ़िल्म आर्टिकल 15 जिसके मुख्य एक्टर आयुष्मान खुराना है  हिंदी मूवी के खिलाफ ब्राह्मण समाज ने आक्रोश जाहिर किया है  और फ़िल्म रिलीज पर रोक लगाने की मांग कीया है निर्देशक अनुभव सिन्हा की फ़िल्म में ब्राह्मण समाज को वास्तविक चरित्र चित्रण से अलग हटकर फिल्माया गया है जिससे दलीत समाज को ब्राह्मण समाज के खिलाफ भड़काने का पूरा प्रयाश किया गया है जो उचित नहीं और  इस फिल्म का ट्रेलर रिलीज किया गया है जिसमें 2 छोटी लड़कियों का रेप कर मर्डर कर दिया जाता है सिर्फ 3 रुपये वेतन में बढ़ोतरी करने को ले । फिल्म में लड़कियों का परिवार गरीब दिखाया गया है जिनसे जबरन खेतों में मजदूरी कराई जाती है। इस फिल्म के जरिए जाति आधारित भेदभाव का मुद्दा उठाया गया है।
फिल्म के ट्रेलर में यह भी बताया गया है कि क्राइम ‘महंत जी के लड़के’ यानी कान कुंज ब्राह्मण ने किया है। इसी वजह से ब्राह्मण समुदाय फिल्म से नाराज है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में बदायूं मर्डर केस साल 2014 में हुआ था जिसमें आरोपियों के नाम पप्पू यादव, अवधेश यादव, उर्वेश यादव, छत्रपाल यादव और सर्वेश यादव है इस घटना को गलत तरीकों से तोड़ मरोड़ फ़िल्म में पेश किया गया जिसको लेकर अखिल भारतीय बहुभाषीय ब्राह्मण महासंघ फ़िल्म के रिलीज पर रोक लगाने हेतु यह बैठक किया है  गया है जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में संगठन के प्रदेश महासचिव अमरेंद्र त्रिपाठी शामिल रहें बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए संगठन के युवा प्रदेश अध्यक्ष रजनीश तिवारी ने कहा कि इस फ़िल्म ब्राह्मण समाज को बदनाम करने की पूरी साजिश रची गयी है और ब्राह्मण समाज को हत्यारा और शोषित करारा दिया गया ब्राह्मणो के खिलाफ़ निचली जाती के लोगो को उग्र करने का उद्देश्य इस फ़िल्म के ट्रेलर देखने पर ही पता चल रहा इस फ़िल्म को ले उत्तरप्रदेश बिहार एवं देश के ब्राह्मणों में काफी आक्रोश है मैं न्यायालय से मांग करता हूँ कि इस फ़िल्म की रिलीज पर पाबंदी लगाई जाय और फ़िल्म फुटेज की अच्छी से जांच कर दोषी फ़िल्म निर्देशक और एक्टर को ब्राह्मण समाज को गलत रूप से दिखाने के लिए सजा दी जाय ।
बैठक में अभियान तिरंगा के संयोजक कुंदन लाल सहगल ने कहा कि फिल्म में भी राजनीतिकरण होने लगा है सभी निर्देशक फिल्म में अकूत पैसा कमाने हेतु जाति आधारित फिल्म निरमा रहे हैं जो अत्यंत चिंतनीय है। अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने कहा इस फ़िल्म को संगठन बिहार में चलने नहीं देगी अखिल भारतीय बहुभाषीय ब्राह्मण महासंघ बिहार के सभी ब्राह्मण -भूमिहार एवं सवर्ण जाती के सिनेमा घर के मालिकों से आग्रह किया है वह इस फ़िल्म को अपने सिनेमा घरों में नहीं चलाए यह समाज हित मे फ़िल्म नहीं बनाया गया है साथ ही साथ संगठन ने यह निर्णय लिया है कि विगत कुछ दिनों में पटना हाई कोर्ट में इस फ़िल्म के खिकाफ़ मामला दर्ज कराया जायेगा और जरूरत पूरी तो पूरे बिहार में फ़िल्म पाबंदी को ले आंदोलन किया जायेगा।
बैठक में सर्वसम्मति से इस फिल्म के खिलाफ सोनू कुमार ठाकुर को पीआईएल की जवाबदेही मिली है। इस बैठक में युवा पटना जिला अध्यक्ष सौरभ तिवारी ,कुंदन लाल सहगल ,ई०सोनू कुमार ठाकुर  ,ई०सुशील त्रिपाठी ,प्रमोद पांडे ,सचिन तिवारी , उज्वल तिवारी आदि दर्जनों प्रमुख लोग मौजूद थें।

Check Also

कानपुर ब्रेकिंग- दादा नगर में 5 फैक्टरी में लगी भीषण आग। इडिया न्यूज लाइव डाट नेट न्यूज टीम रिपोर्टर अनूप त्रिपाठी की रिपोर्ट

अनूप त्रिपाठी की रिपोर्ट कानपुर ब्रेकिंग- दादा नगर फैक्ट्री एरिया 188 बी कचरी फैक्ट्री समेत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

India News Live