All for Joomla All for Webmasters

सुशील श्रीवास्तव की एक रिर्पोट ,उतरौला

उतरौला (बलरामपुर)आखिरकार लोकतंत्र सेनानी चौधरी इरशाद अहमद गद्दी की मेहनत ले ही आयी।प्रशासन झुका और उतरौला से तुलसीपुर को जोड़ने वाली पिपरा पुल का निर्माण कार्य शुरू हो गया ।उन्होंने क्षेत्र के विकास कार्यों को लेकर आमरण अनशन,धरना प्रदर्शन व ज्ञापन के माध्यम से शासन को मांगे मनवाने पर मजबूर कर दिया। 
पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के शासन काल मे राप्ती नदी पर पिपराघाट पुल का निर्माण कार्य का उद्घघाटन हुआ था और कुछ भाग निर्माण होने के बाद निर्माण कार्य रूक गया। वर्षों से बंद पड़ें पिपरा घाट पुल के निर्माण कार्य व सड़क निर्माण को लेकर लोकतंत्र सेनानी चौधरी इरशाद ने ग्यारह मार्च 2018 को धरना प्रदर्शन चक्का जाम करके शासन प्रशासन जगाने का काम किया।जिसके फलस्वरूप शासन ने संज्ञान लेते हुए अधूरे पड़े पुल व सड़क निर्माण के लिए लगभग 28करोड़ का धनराशि निर्गत कर निर्माण कार्य शुरू कराया। क्षेत्र वासी संतोष कुमार श्रवण,अमित कुमार यादव,धर्मेन्द्र कुमार गुप्त,दिनेश कुमार विमल,आशीष कुमार यादव, आदि ने उम्मीद जताया है कि आगामी नवरात्रि पर मां पाटेश्वरी देवी मंदिर के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओ को कम खर्च व कम समय में दर्शन करने की कामना पूरी होगी।

RAJESH SHARMA