All for Joomla All for Webmasters

 

एम0पी0सिंह की एक रिर्पोट

सिद्धार्थनगर- जनपद के कोतवाली लोटन का एक हैरत अंगेज मामला उस समय प्रकाश में आया जब पप्पू रोते हुए बुद्ध के संदेश दफ्तर पर आया और यह कहा कि गोपाल चन्द नामक सिपाही ने पप्पू से कहा तुम्हे मुकदमे से बचा लेगें 25 हजार रूपये दे दो चूँकि 376 आई.पी.सी का मुकदमा लड़की पक्ष द्वारा कानून का बेजा इस्तेमाल कर  लिखवाया जा रहा था।

पप्पू ने अपनी पत्नी के जेवर बेच कर सिपाही गोपाल चन्द्र को 23 हजार रुपये अपने बचने के लिए दे दिया दूसरे दिन पप्पू परिवार समेत गिरफ्तार किया गया और उसी सिपाही गोपाल चन्द्र ने दहशत फैलाने के नाते उसे काफी मारा पीटा जब और चलान हो गया तो छूट कर आने पर यह स्थिति बयान करने लगा तथा पैसा वसूली कर लगातार तीन दिन तीन शिकायती प्रार्थना पत्र लिखवाकर अपने परिवार को दिखाता और परिवार के समझने पर कही पुलिस फिर पुलिस उसेे मार न दे शिकायत करने की हिम्मत नही जुठा पाया वह इतनी दहस्त मे रहा कि इतनी लम्बी रकम डूब रही है किन्तु मानसिक हलात और पिछले उत्पीड़न से वह इतना डरा हुआ है कि उच्च अधिकारियों को अपने शिकायत तक नही दर्ज करवा पा रहा है क्षेत्रीय समाज सेवी हरिनरायन द्वारा कहा गया कि उसे इतना मारा गया तथा परिवार समेत जेल गया उसे पैसे की जरूरत है किन्तु इतनी हिम्मत नही जुटा पा रहा है कि वह वर्तमान में जोगिया थाना पर तैनाती पाये गोपाल चन्द्र से अपने पैसे वापस मागने की हिम्मत जुटा पाया यह बानगी है कि जिले कि पुलिस और जनता के बीच सम्बधों की ।

RAJESH SHARMA