All for Joomla All for Webmasters

 

एम0पी0सिंह की एक रिर्पोट

सिद्धार्थनगर- राजस्व विभाग इंटवा में तहसीलदार की निगरानी करने वाला कोई नही है यही नही पुलिस प्रशासन मिश्रोलिया कानून से परे हटकर कार्य कर रहा है हाल ही मे ग्राम उड़लिया थाना मिश्रोलिया तहसील इंटवा निवासनी विजंन पत्नी त्रिभवन द्वारा जिला प्रशासन में यह शिकायत दर्ज कराई है कि उसके पति द्वारा दिनाँक 23.06.2017 को सुरेमन पुत्र बटोही ग्राम निवासी उड़वालिया से एक बैनामा रजिस्टरर्ड मुगलिक सढ़े तीन लाख रुपये नगद देकर गाटा सं0- 639 रक्बा 0.1850 हे0 क्रय किया रजिस्टरर्ड दस्तावेज के विरुद्ध कोई मनसूखरी वाद किसी नियमित अदालत में नही लम्बित है दस्तावेज में ही विक्रेता द्वारा यह इकबाल किया गया है कि आज की तिथि दिनाँक 23.06.2017 जिस दिन भूमि की रजिस्टरी हुई उसी तिथि से क्रेता को ना केवल कब्जा दे रहा हूँ अपितु अब क्रेता के जिम्मे कुछ भी अदायगी शेष नही वह अपना भूमि पर कब्जा प्राप्त करे सरकारी अभिलेेखों मे अपना नाम दर्ज करवाए और दस्तावेज के विरुद्ध किसी भी व्यक्ति का उज्र या एतराज गलत वा बेसर होगा और क्रेता को कुल क्षति और ब्यय सहित विक्रय भूमि रजिस्टरी सं0-1651 दिनाँक 23.06.2017 से विक्रेता के विरुद्ध कानूनी हक हासिल होगा किन्तु अभी तक तहसीलदार इंटवा द्वारा खेतौनी में क्रेता का नाम इन्द्रराज नही किया तथा विक्रेता द्वारा विक्रीत भूमि में त्रिभवन क्रेता की बोई फसल धान और वर्तमान में गेहूँ की फसल जबरिया पुलिस की मदत से कटवा ली गई है उसने थाना मिश्रोलिया और यस.डी.यम. इटवां को दर्जनो शिकायति पत्र देकर थक गई किन्तु वह अपनी फसल कटते देख रही है थाने पर जाने तक गत दिनो थाने का दरोगा पड़ोस के एक सजातिय परिवार जो उसे ले गया था। बन्द कर दिया और तीन हजार रुपये देने के बाद उसे छोड़ा फसल काटने के विरुद्ध रिर्पोट लिखना तो दूर तब वह इंटवा से भाग कर मुख्यालय पर आयी है उसकी कोई सुनवाई राजस्व विभाग या पुलिस प्रशासन नही कर रहा क्योंकि उसने 12.04.2018 को एस.पी को भी लिखित शिकायत दिया था कि उसकी फसल थाने से मिलकर विपक्षी विक्रेता सुमेरन जबरजस्ती काटकर उठा ले गये।

RAJESH SHARMA