All for Joomla All for Webmasters

पंकज चौबे –

यूँ तो प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी स्वच्छता को लेकर काफी सजग दिख रहे हैं और उनके द्वारा जपानी बिमारी को दूर भगाने के तरह तरह के उपाय भी किये जा रहे हैं, किन्तु उनके अधिनस्त कर्मचारियों को योगी सरकार की जरा भी चिंता नहीं, नहीं तो शोहरतगढ़ में गन्दगी का अम्बार नहीं लगता। मानों उन्हे न तो किसी अधिकारी का डर है, और न ही स्वच्छता मिशन कि जिम्मेदारों की।

ताजा मामला शोहरतगढ़ नगर के अर्धनगरीय इलाका गड़ाकुल का है, जो आज भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। दुविधा यह है इस कूड़ेढेर को न तो नगर पंचायत देखता है और न ही ग्राम सभा। भूलवश अगर आप यहां खड़े हो गए तो नाक नही दे पाइयेगा। इससे साफ है कि जिम्मेदार योगी सरकार के आदेश का खुला मजाक उड़ा रहे है। कस्बे वासियों की माने तो जिम्मेदारों को जैसे लकवा मार दिया है, कागजी अभियान में लोग बाग बाग हो रहे है।’ 

आलम यह है कि पूरा दिन सुअरों की पूरी फौज खूब घूम घूम कर इसी नाले में डुबकी गन्दगी में लगाते रहते है किन्तु जिम्मेदार आंख में पट्टी बांध घूमते नजर आ रहे है।

इस सम्बन्ध में जब सहायक मुख्य चिकिस्ता अधिकारी डॉ विजय कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा की अभी तक मामला संज्ञान में नहीं था स्वास्थ्य को लेकर किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जायेगी जाँच कर सम्बंधित के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।

SUB-EDITOR UP