All for Joomla All for Webmasters

रजनीश कुमार पटना –

सासाराम : जनतांत्रिक पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष श्री अनिल कुमार ने आज करगहर में दुष्‍कर्म की शिकार छह साल की मासूम बच्ची से सासाराम सदर अस्‍पातल में जाकर मुलाकात की। इस दौरान श्री कुमार ने पीडित के परिजनों से न्‍याय दिलाने की बात कही और तत्‍काल10,000 रूपए की आर्थिक मदद की। बच्‍ची के समुचित इलाज की जिम्‍मेदारी भी ली।

उन्‍होंने कहा कि एक मासूम के साथ इस जघन्‍य अपराध के लिए दोषी को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। हम सरकार से मांग करते हैं कि इस मामले में स्‍पीडी ट्रायल हो और दोषी को फांसी पर लटका दिया जाय। यह काफी शर्मनाक और दिल दहला देने वाली घटना है। ऐसे दरिंदों को समाज में रहने का कोई हक नहीं है। श्री कुमार ने सरकार से पीडि़त परिजनों के जीविकोपर्जन की व्‍यवस्‍था करने की मांग की।

उन्‍होंने कहा कि एक घटना को सप्‍ताह भर हो गए, मगर सरकार की ओर से किसी ने भी पीडि़त परिवार के लिए संज्ञान नहीं लिया। यह दुखद है। यह बच्‍ची हमारी बेटी जैसी है, इसलिए हम चिकित्‍सा के साथ – साथ इसकी शिक्षा पर होने वाले खर्च का वहन भी करेंगे। उन्‍होंने स्‍थानीय विधायक की भूमिका पर सवाल खड़े किये और कहा कि इस घटना में स्‍थानीय विधायक की चुप्‍पी संदिग्‍ध है। इसलिए इस मामले में उनकी भूमिका पर भी जांच होनी चाहिए।

वहीं, इस मामले को लेकर श्री कुमार ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को भी घेरा। उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यंमत्री जी हर मामले में चुप्‍पी साध लेते हैं। हम उनसे पूछना चाहते हैं कि उनके कानून के राज में इस जघन्‍य अपराध के लिए कोई कार्रवाई होगी या नहीं? क्‍या हमारी बेटी को न्‍याय मिलेगा या नहीं ? 

उन्‍होंने कहा कि नीतीश कुमार ड्रेस, साइकिल देकर अपनी पीठ थपथपा लेते हैं, मगर क्‍या जब बेटी सुरक्षित ही नहीं रहेगी, तो कैसे स्‍कूल जायेगी? महिला सशक्तिरण की बात तो खूब करते हैं, मगर महज पांच साल की बच्‍ची को भी अगर वे सुरक्षा नहीं दे पायेंगे, तो कैसे सशक्‍त होंगी महिलाएं? इन सवालों का जवाब जनता जानना चाहती है।

SUB-EDITOR UP