All for Joomla All for Webmasters

INDIA NEWS LIVE –

पोषण शरीर के लिए कितना जरूरी है, यह बात हम सभी अच्छे से जानते हैं। मगर आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में अक्सर पोषण दूर कहीं छूट जाता है। बढ़ता वजन, काम का तनाव, और थकान हावी रहते हैं। ऑस्ट्रेलियाई पोषण विशेषज्ञ जेसिका सेपेल का कहना है कि लोग पोषण से जुड़े कई तरह के सवाल उनके पास लेकर आते हैं। मगर उनकी सोच बहुत साफ है।

उनके मुताबिक हमारी आंतों में मौजूद गुड बैक्टीरिया हमारी सेहत पर कई तरह से प्रभाव डालते हैं। इसलिए अगर तनाव को कम करना है तो इनकी तादात बढ़ाने के उपाय करने होंगे। उनके पास सलाह के लिए आने वाले लोग और भी कई तरह के सवाल करते हैं। 

पेट की फूलने की समस्या से निजात पाएं

यह समस्या आमतौर पर लोगों में पाई जाती है। जेसिका कहती हैं कि इस समस्या से उबरने के लिए दो से चार हफ्तों तक ग्लूटेन युक्त चीजों का सेवन छोड़ देना चाहिए। इसके अलावा खाना खाते समय बीच में पानी नहीं पीना चाहिए, या तो खाना खाने के 15 मिनट पहले पानी पीना चाहिए या उसके 15 मिनट बाद। च्यूइंगगम और सोडा से भी पेट फूलने की समस्या हो सकती है। इसके अलावा खाने को तरल रूप में आने तक चबाना चाहिए।

मीठा खाने की तलब से रहें दूर

तनाव और भागदौड़ भरी जिंदगी का हिस्सा है मीठे की तलब। हालांकि इससे आसानी से उबरा जा सकता है। जेसिका कहती हैं कि हमारे खाने में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन जरूर होना चाहिए। इसके साथ ही तकरीबन दो चम्मच फैट भी रोज के खाने का हिस्सा होना चाहिए। इस उपाय से मीठे के लिए तलब नहीं होगी। इसके अलावा दोपहर में फल खाने से भी मीठे की तलब बढ़ती है। 

तनाव से दूरी सेहत के लिए जरूरी

तनाव हमारी आधुनिक जीवनशैली का हिस्सा बन गया है। जीवनशैली से जुड़े बदलावों के अलावा रोजमर्रा के खानपान में बदलाव से भी इस समस्या को काबू में किया जा सकता है। तनाव कम करने के लिए हमारी आंतों में मौजूद गुडबैक्टीरिया का अहम रोल होता है। लिहाजा इन पर हमारा ध्यान होना चाहिए। इसके अलावा रोजाना सात से आठ घंटे की नींद लेना बेहद जरूरी है।

रात को सोने से पहले अपने मोबाइल फोन को बंद कर दें या उसके नोटिफिकेशन बंद कर दें, ताकि सोते समय नींद न खुले। साथ ही डायटिंग की जगह योगाभ्यास या मेडिटेशन करना भी सेहत के लिए अच्छा रहता है।

बिना डायटिंग के कम करें वजन

वजन कम करने की कोशिश करना कोई गलत बात नहीं होती, मगर इसका तरीका सेहतमंद होना चाहिए। जेसिका कहती हैं, अगर आप बिना डायटिंग के वजन कम करना चाहते हैं, तो सबसे पहले अपने खानपान से कृत्रिम चीजों को और मीठे को बाहर कर दीजिए। रोज आप जो भी खाते हैं, ध्यान रखें कि उसमें सही मात्रा में फैट, प्रोटीन और धीरे-धीरे घुलने वाले कार्बोहाइड्रेट होने चाहिए। इसके अलावा खाने से रिफाइंड शुगर हटाकर इसके स्थान पर दालचीनी या स्टीविया को शामिल करना चाहिए। इसके अलावा व्यायाम बेहद जरूरी होता है, मगर वह तरीका चुनें जिसे करने में आपको मजा आता हो।

आंतों को रखें दुरुस्त
पाचन तंत्र की सेहत का सीधा असर हमारे पूरे स्वास्थ्य, व्यवहार और तरक्की पर पड़ता है। कुछ विशेषज्ञ तो इसे हमारे शरीर का दूसरा मस्तिष्क भी कहते हैं। आंतों की सेहत के लिए ग्लूटेन युक्त चीजों का सेवन दो से चार हफ्तों तक बंद कर देना चाहिए। इससे तनाव कम होगा और खाने के साथ दही या प्रोबायोटिक का सेवन जरूर करें। इसके अलावा डाइट सोडा या साधारण सोडा से भी दूर रहें। श्वेत और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट से भी दूर रहना चाहिए।

SUB-EDITOR UP