All for Joomla All for Webmasters

जाने आज मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी ने क्या कहा और जनपद को क्या मिला ..हमारे साथ.. RAJESH SHARMA SIDDHARTH NAGAR राजेश शर्मा की एक रिपोर्ट

Apr 2, 2018

 

राजेश शर्मा की एक रिपोर्ट 

सिद्धार्थनगर – उ0प्र0 सरकार के मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूर्व क्रार्यक्रम के अनुसार जनपद में पुलिस लाइन में प्रातः 10ः30 बजे हेलीकाप्टर लैण्ड किये। सर्वप्रथम सयंुक्त जिला चिकित्सालय में नवनिर्मित भवन 100 शैय्या युक्त मातृ एवं शिशु चिकित्सालय का लोकार्पण किया गया। संयुक्त जिला चिकित्सालय में गरीब, असहायों तथा सभी वर्ग के लोगों के लिए सिटी स्कैन मशीन द्वारा सिटी स्कैन किये जाने की सुविधा प्रदान किये जाने के लिए शुभारम्भ किया गया।

इसके पश्चात सयंुक्त जिला चिकित्सालय का निरीक्षण भी किया गया। इसके पश्चात जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के बगल में खाली मैदान/कार्यक्रम स्थल पर स्कूल चलो अभियान की रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। इसके बाद कार्यक्रम स्थल पर बनाये गये मंच पर मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी की उपस्थिति हुई। मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद के दूर-दराज से आये किसानों नौजवानों एवं महिलाओं, मा0 विधायकगण, भारतीय जनता पार्टी के समस्त कार्यकर्ताओं व प्रशासनिक अधिकारियों/सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिकोण से ड्यूटी पर लगाये गये पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों, कर्मचारियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आभार प्रकट किया गया। मा0 मुख्यमंत्री जी के जनपद आगमन पर उ0प्र0 सरकार के मा0 मंत्री आबकारी एवं मद्य निषेध जयप्रताप सिंह द्वारा पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। मा0 स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह को मा0 सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल देकर पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। मा0 जनपद प्रभारी मंत्री को विधायक शोहरतगढ़ द्वारा पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। मा0 मुख्यमंत्री उ0प्र0योगी आदित्यनाथ जी के मंच पर पदार्पण होने के पश्चात सरस्वती विद्या मन्दिर के छात्र/छात्राओं द्वारा सरस्वती बन्दना की प्रस्तुति की गयी। सेण्ट जेवियर्स इन्टर मीडिएट कालेज के छात्र/छात्राओं द्वारा स्कूल चलो अभियान का नारा देते हुए गीत की प्रस्तुति की गयी।

जनपद स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले कपिलवस्तु महोत्सव-2017 दिनांक 25.12.2017 से 31.12.2017 के सफलतापूर्वक आयोजन सम्पन्न होने के पश्चात पंचशील स्मारिका 2017 का विमोचन मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा किया गया। इस अवसर पर मंच पर उपस्थित मा0 मंत्रीगण, विधायकगण, व प्रशासनिक अधिकारी व सुरक्षा के अधिकारी उपस्थित रहे।


महिला के शिकायत पर मुख्यमत्री आदित्य नाथ योगी ने इटवा के थाना प्रभारी अनील पाण्डेय और सब दरोगा सही दो सिपाही निलम्बित करने का दिया आदेश।
सूत्रो की माने तो जिलाधिकारी को भी लगाई फटकार। ओ डी एफ गाँव भीटिया में टीकाकरण की व्यवस्था के दौरान मिली खामियों को लकेर सीएमओ डाॅ0 वेद प्रकाश शर्मा के खिलाफ हुई कार्यवाही।


मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने सम्बोधन में कहा कि उ0प्र0 सरकार द्वारा दो महत्वपूर्ण कार्यक्रमों का शुभारम्भ किया है।

स्कूल चलो अभियान और संचारी रोग को जड़ से मिटाने के लिए बृहद कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया है। उ0प्र0 सरकार ने प्राथमिक/पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों को डेªस, जूता-मोजा, स्वेटर, बैंग और पाठ्य पुस्तकों का वितरण कराया गया है। 01-15 वर्ष तक के बच्चों को जापानी इंसेफलाटिस का टीका लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि दस्तक अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी जनपद के समस्त 01-15 वर्ष की आयु वाले बच्चों को टीकाकरण का कार्य कराया जायेगा। मा0 मुख्यमंत्री जी ने जिलाधिकारी एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि जनपद का कोई भी बच्चा टीकाकरण के कार्य से किसी भी दशा में छूटने न पाये। यदि कही से इस पखवाड़ा के अन्तर्गत कोई शिकायत प्राप्त हुई सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिष्चित की जायेगी। इस कार्यक्रम में सभी लोगों की जनसहभागिता आवष्यक है। भारत के मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं अभियान शुरू किया गया और यह कार्यक्रम पूरे भारत में बृहद रूप से चल रहा है। जनपद सिद्धार्थनगर पिछड़े जनपद की श्रेणी में आता है। शिक्षा व्यवस्था में सुधार करके जनपद को पिछड़े जनपद की श्रेणी से बाहर लाया जायेगा। उ0प्र0 सरकार द्वारा संकल्प लिया गया है कि प्रदेश में बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण तरीके से कराया जायेगा। भगवान गौतम बुद्ध ने इसी धरती से संसार की बुराईयों को दूर करने के लिए उपदेश दिये है।
स्वास्थ्य के क्षेत्र में जनपद सिद्धार्थनगर को एक मेडिकल कालेज दे दिया गया है और जल्द ही इसका शिलान्यास किया जायेगा।
उ0प्र0 सरकार ने मिट्टी पर रायल्टी फ्री कर दिया है।
किसान अपने खेत से मिट्टी खनन कर सकते है।
जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि बालू, मोरंग के पट्टों को दिये जाने की कार्यवाही शीघ्रतिशीघ्र पूर्ण
करते हुए बालू, मोरंग के खनन का कार्य जल्द से जल्द शुरू हो जिससे स्थानीय लोगों को सस्ते में बालू एवं मोरंग उपलब्ध हो जिससे लोग आम नागरिक कम लागत पर अपने पक्के मकान बना सके। इसके साथ ही साथ मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने ईट भट्ठों से वार्ता करके ईट का रेट कम करने के लिए प्रयास जारी है।शीघ्र ही इसका परिणाम आपके सभी लोगों के सामने होगा। मा0 मुख्यमंत्री जी ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि जनपद के ईट भटठा व्यवसायियों से वार्ता करके ईट का रेट कम कराये जाने की कार्यवाही सुनिष्चित करें। ईट भट्ठों के लिए भी मिट्टी की रायल्टी प्रदेश सरकार फ्री करने पर विचार कर रही है। मा0 मुख्मंत्री उ0प्र0 श्री योगी आदित्यनाथ जी ने बताया कि विकास का कार्य समयबद्ध और गुणवत्तापूर्ण तरीके से किया जायेगा। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि जनपद में 04 वर्ष की आयु का कोई भी बच्चा विद्यालय जाने से बंचित किसी भी दशा में न रहने पाये इसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शिक्षा विभाग के अधिकारियों, शिक्षकों व कर्मचारियों की है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने अपने सम्बोधन मे कहा कि जनपद सिद्धार्थनगर पिछड़ा जनपद होने के कारण भारत सरकार द्वारा नीति आयोग में चयनित कर लिया गया है।इससे जनपद का विकास होगा। किसी भी क्षेत्र में कोई कमी नही रहने पायेगी। प्रदेश में सड़को का चैड़ीकरण करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग बनाये जा रहे है। उ0प्र0 सरकार स्वास्थ्य एवं शिक्षा की गुणवत्ता पर पूरी तरह कटिबद्ध है।

मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा लगभग 52 करोड़ की 34 परियोजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण किया गया।

मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा मंच पर उपस्थित 10 बच्चों को निःशुल्क किट प्रदान किया गया जिसमें स्कूली बैग, ड्रेस, पाठ्य पुस्तक, जूता-मोजा तथा अन्य सामग्री थी जो दी गयी।

जनपद में जे0ई0/ए0ई0एस0 रोग से प्रभावित तीन लोगो को 50 हजार की सहायता राशि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा प्रदान की गयी।

मंच स्थल से मा0 मुख्यमंत्री जी की एक महिला की पीड़ित भावना को देखकर अपना सम्बोधन समाप्त करके मंच पर बुलाकर तहसील व थाना इटवा गीता देवी पत्नी संतोष कुमार ग्राम विशुनपुर गौराही थाना-इटवा की शिकायत सुनकर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थनगर को इस पर तत्काल निराकरण का आदेश दिया गया।

महिला की शिकायत सुनकर मा0 मुख्यमंत्री जी ने एस0ओ0 इटवा और एस0आई0 इटवा को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने हेतु पुलिस अधीक्षाक को निर्देश दिया गया। कार्यक्रम स्थल मंच के सभी कार्यक्रम सम्पन्न होने के पश्चात जनपद के नगरपालिका, सिद्धार्थनगर के मलीन बस्ती मो0 शेखनगर की साफ-सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया गया। मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा सफाई व्यवस्था पर संतुष्टि व्यक्त की गयी। इसके पश्चात तहसील नौगढ़ के विकास खण्ड-उसका बाजार के अन्तर्गत ओ0डी0एफ0 ग्राम भिटिया का निरीक्षण किया गया। ग्राम पंचायत भिटिया के प्राथमिक विद्यालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों से जानकारी प्राप्त की गयी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा बच्चो के टीकाकरण अभियान में पायी गयी खामियो से नाराज होकर मा0 मुख्यमंत्री जी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 वी0पी0 शर्मा को निलम्बित करते हुए डी0जी0 कार्यालय से सम्बद्ध कर दिया गया।
इस कार्यक्रम में उपरोक्त के अतिरिक्त जिलाध्यक्ष भाजपा रामकुमार कुॅवर, जिला प्रभारी दुर्गा राय, अध्यच नगर पंचायत शोहरतगढ़ बबिता कसौधन, सिद्धार्थनगर श्याम बिहारी जायसवाल, अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के महानिदेशक पंकज कुमार, निदेशक बेसिक शिक्षा सर्वेन्द्र विक्रम सिंह तथा अन्य वरिष्ठ प्रशासनिक तथा अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी, कर्मचारी, दूर-दराज से आयी जनता तथा स्कूली बच्चों आदि की उपस्थिति रही।

Read More

योगी और मोदी सरकार को एक निष्पक्ष और जनहितैशी सरकार की संज्ञा दी जा सकती है ? -M.P.SINGH एम0पी0सिंह की एक रिर्पोट

Mar 21, 2018

 

एम0पी0सिंह की एक रिर्पोट

सिद्धार्थनगर – चंन्द्रशेखर आजाद पब्लिक स्कूल द्वारा अपने वार्षिक उत्सव में सैकड़ो की संख्या मे उपस्थित अभिभावकों के समक्ष विद्यालय के पठन-पाठन की गुणवता तथा वर्तमान योगी सरकार की नीतियांेकी खुलकर तारीफ किया विद्वान शिक्षा विद द्वारा अपने संम्बोधन यह उदगारव्यक्त किया गया कि एक वर्ष के छोटे से कार्यकाल मे मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हर वह फैसला किया गया जो दीर्घकाल में उत्तर प्रदेश को अराजकता और भ्रष्ट्राचार से मुक्त कर उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने के लिए मजबूत नींव रखा है जिसके लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा श्री अमितशाह की जितनी भी तारीफ की जाए उतनी कम है जहाँ तक उप चुनाव का सवाल है जातिवादी आरंक्षणवादी धर्मान्धसमुदाय एवं भ्रष्ट्राचारियों के पोशक तत्वो के चलते राजस्थान और मध्यप्रदेश में प्रार्टी को जनता का विरोध देखने को मिला वही विरोध और प्रतिक्रिया गोरखपुर और फूलपुर मे देखने को मिली किन्तु गोरखपुर और फूलपुर की हार को बहुत बढा-चढाकर पेश किया जा रहा है

क्योंकि सपा बसपा कांग्रेस और लालू यादव के पाट्र्री के लोग अपने पूर्व जातिवादी और भ्रष्ट्राचार परक फैसले के कारण जाँच के दायरें में हैं तथा इन दलों द्वारा भासपा के ओमप्रकाश राजभर सरीखे से देश मे कानून आर्थिक स्थित और राष्ट्रीय हितों की अनदेखी करते हुए केवल सत्ता एन केन प्रकारेण प्राप्त करना और लूट खशोट स्वंम करना और देश को अराजकता मे ढकेल देना आज पाकिस्तान जैसे देश के मनोबल को बढाने वाला साबित हुआ प्रतिदिन सैकड़ो जवान मर रहें हैं नव युवकों मे नौकरियों मे जातिवाद भाई भतीजा वाद और भ्रष्ट्राचार के चलते जो निराशा थी उसे योगी और मोदी ने दूर करने का प्रयास किया अपने एक वर्ष के कार्यकाल में जो भी फैसले लिए उसपर एक बिन्दी भी नही रखी जा सकती गढ्ढा मुक्त नीति मे भ्रष्ट इजिनियर ठीकेदार और बारिश ने योजना को असफल किया तथा राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण और पर्यावरण मंत्रालय मे बैठे प्रकाश जाबड़ेकड तथा अदालत की तलवार ने बालू खनन को बाधित किया जिससे उसके मूल्यों मे बेतहाशा वृद्धि हो गई तथा नोट बन्दी जैसे बड़े कार्यक्रम से जनता को कष्ट हुआ जो बहुल्क अनपढ़ थी उसे इसके उद्देयश्य और लाभ का पता नही रहा तथा पूर्ववर्ती सरकार के शिक्षामित्रों के कानून विरुद्ध समायोजन से अदालत का इसी बीच खिलाफ फैसला योगी सरकार के विरुद्ध महोल बनाया यही नही जाँच के दायरे मे आए दलों के नेता सरकारी अधिकारी और मदरसों तथा शिक्षा विभाग के भ्रष्ट्राचारी लाम बन्द होकर अचानक जनता को भ्रमित करने लगे अबेम्डकर वादी दुष्प्रचार द्वारा जनता मे भाजपा को आरंक्षण विरोधी होने का भ्रम फैलाये अपराधियों पर न केल कसे जाने से माफिया तन्त्र जो समानातंर सरकार चला रहे थे वह भी एक जुट हो गए और एक वर्ष के कार्यकाल मे बिजली और रसोईगैस के अलावा और कुछ जनता मे सुविधा क महसुस नही हो पाया अधिकारी के पास पुराना बैंक बैलेन्स की जाँच प्रताल के नाते चोरी छिपे घुसखोरी की प्रवृत्ति बढी ग्राम प्रधान और कोटेदार पर भ्रष्ट्राचार की लगाम कसने से वो भी सरकार के विरोध मे हो गए और धान की खरीद मे 67 प्रतिशत चावल की प्रतिपूर्ति की तलवार से खरिदारी शून्य रही जिसके कारण उपचुनाव में आम आदमी इन पार्टियो के दुष्प्रचार और भ्रम का शिकार हो गया स्वमं अब गोरखपुर की जनता पछता रही है।

Read More

पटना:-सम्पादकीय:-(पत्रकारिता विशेष) इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में स्मार्टफोन के दम पर तीसरी आजादी की ओर चौथा स्तंभ

Mar 20, 2018

सी.के.झा की कलम से एक रिपोर्ट ।

                     सम्पादकीय

                 (पत्रकारिता विशेष)

पटना:- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में स्मार्ट फोन के दम पर पत्रकारिता तीसरी आजादी की ओर तेजी से बढ़ रही है हालांकि यह बदलाव प्रिंट मीडिया के लिए परेशानी का कारण जरूर है लेकिन तकनीकें बदलती है तो तकदीरें भी बदलती ही हैं. कभी अखबार ट्रेडल पर छपा करते थे, फिर  सिलेंडर आफसेट मशीन पर आ गए तो ब्लैक एंड व्हाईट, फोटो ब्लॉक से सेपरेट कलर से लेकर मिक्स कलर तक का सफर ऐसे ही तय नही किया है. प्रिंट मीडिया में इन बदलावों के दौरान भी कई बेरोजगार हुए तो कइयों का कैरियर खत्म हो गया. जब कंप्यूटर युग शुरू हुआ तो कई वरिष्ठ पत्रकार, पत्रकारिता की मुख्यधारा से ही अलग हो गए. 

करवट लेते तकनीक में हुंकार भरा  पत्रकारिता —

अब तकनीक फिर करवट ले रही है. यह अच्छे पत्रकारों के लिए यकीनन एक सुखद बदलाव है. क्योंकि यह पत्रकारिता को तीसरी आजादी की ओर ले जा रही है. बीसवीं सदी के पूर्वार्ध में पत्रकारिता का उदय हुआ तथा आजादी से पहले और बाद में कई अखबार निकले जो कॉर्पोरेट आधार पर नहीं, कलम के आधार पर जाने-पहचाने जाते थे.

अखबारों का संघर्ष व उनकी तस्वीर पर एक नजर—

आजादी से पहले इन अखबारों ने बड़ा संघर्ष किया क्योंकि अंग्रेजों ने कई नियम लाद रखे थे, दुर्भाग्य से आज भी प्रेस एक्ट उसी जमाने के नियमों की सजावटी फोटोकॉपी है. उस युग की तस्वीर की कल्पना केवल इससे की जा सकती है कि आजाद बांसवाड़ा के पहले प्रधानमंत्री प्रसिद्ध पत्रकार भूपेन्द्रनाथ त्रिवेदी को अखबार पढ़ने के जुर्म में सजा दी गई थी. देश आजाद हुआ तो पत्रकारिता को पहली आजादी मिली. आजादी के बाद के तीन दशक पत्रकारिता का स्वर्णयुग था. लेकिन इसके बाद सातवें दशक में आपातकाल ने एक बार फिर पत्रकारिता को गुलाम बना लिया. अखबारों की स्थिति सरकारी प्रेसनोट जैसी हो गई लेकिन समय बदला और पत्रकारिता को दूसरी आजादी मिली.

कलम की ताकत से पत्रकार की पहचान तक का सफर–

इंडियन एक्सप्रेस, जनसत्ता, नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों ने एक बार फिर कलम की ताकत दुनिया को दिखाई लेकिन आठवें दशक के बाद जाने-अनजाने पत्रकारिता फिर कमजोर पडने लगी. एक ओर जहां सरकारी लाभ के घोषित/अघोषित नियमों ने अच्छे-अच्छे अखबारों को फाइल कॉपी तक पहुंचा दिया वहीं बाजार के दबाव में बड़े-बड़े अखबार सजावटी होते चले गए. कलम की ताकत से पहचाने जानेवाले पत्रकार की पहचान बड़ी कार हो गई. 

इंटरनेट की बढ़ती ताकत पत्रकारिता तेजी से तीसरी आजादी की ओर—-

इस दौरान इलैक्ट्रॉनिक मीडिया भी आया लेकिन उसके भी भारी भरकम खर्चे बाजार पर ही निर्भर रहे इसलिए वहां भी पत्रकारिता सजावटी ही बनी रही. कभी कलम पत्रकारों की तलवार होती थी लेकिन नई एक्कीसवीं सदी में तलवार की जगह म्यांन थमा दी गई. चाहे जितना लड़ो, चाहे जितना लिखो. नुकसान कुछ नहीं होना है, नतीजा कुछ नहीं निकलना है. लेकिन अब स्मार्ट फोन और इंटरनेट की बढ़ती ताकत पत्रकारिता को तेजी से तीसरी आजादी की ओर ले जा रही है. इस बीच कई सवाल खड़े हो गए हैं कि इसका व्यावसायिक ढांचा क्या है? फायदा क्या है? यकीनन प्रिंट और इलैक्ट्रानिक मीडिया के करोड़ों की कमाई के मुकाबले इसकी कुछ भी कमाई नहीं है लेकिन सवाल यह है कि पत्रकारिता व्यवसाय कब थी? इसे तो व्यवसाय बना दिया गया है.

हां, जहां तक इसकी ताकत की बात है तो आनेवाला समय दिखाएगा कि अच्छे पत्रकारों की कलम में फिर जान आ रही है. पत्रकारिता का स्वर्णयुग लौट रहा है.

Read More

पटना:- बिहार के अनूप भारती नें गेट परीक्षा में 79.33 फीसदी अंक प्राप्त कर भारत में पहला स्थान लाया ,पुरे बिहार वासियों में हर्ष

Mar 17, 2018

सी.के.झा की एक रिपोर्ट ।

पटना:-अनूप भारती एनआईटी पटना का पूर्ववर्ती छात्र है इन्हें 79.33 फीसदी अंक प्राप्त हुआ और देशभर में पहला स्थान गेट 2018 में मिला है। अनूप को देशभर में पहला स्थान गेट 2018 में आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग पेपर में पाया है । इनका पूरा परिचय  इनके पिता अनिल केंद्रीय विद्यालय, बेली रोड में शिक्षक हैं।

अनूप नालंदा जिला के गोमहर गांव का रहनेवाले हैं।बतादें कि इस बार गेट का आयोजन आईआईटी गुवाहाटी ने किया था।  वहीं, छपरा के दहियावां के निवासी और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी पटना से एमयूआरपी 2017-19 सत्र के छात्र मो. आलम हसन अंसारी को पूरे देश में 73 वां रैंक हासिल हुआ है। उनका एग्जामिनेशन पेपर आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग का था।

मिली जानकारी के अनुसार तय तिथि से एक दिन पहले ही यह रिजल्ट जारी किया गया है। स्कोर कार्ड 20 मार्च से डाउनलोड होगा। परीक्षार्थी वेबसाइट http://gate.iitg.ac.in पर परिणाम देख सकते हैं।

Read More

उपचुनाव रिजल्ट: योगी की अग्नि परीक्षा :DEVENDRA SINGH GORAKHPUR देवेन्द्र सिंह की रिपोर्ट

Mar 13, 2018

देवेन्द्र सिंह की रिपोर्ट

गोरखपुर व फूलपुर दोनों सीटों के नतीजे उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता की परीक्षा हैं, इन नतीजों से यूपी की जनता का मूड सामने आएगा, उत्तर प्रदेश में कल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए 2019 के सेमीफाइलन के नतीजे आने हैं, यह सेमी फाइनल गोरखपुर-फूलपुर उपचुनाव का है, कल यानी 14 मार्च को इन दोनों ही सीटों का नतीजे आएंगे, इन सीटों पर 11 मार्च को चुनाव हुए थे, 19 मार्च को योगी सरकार अपना एक साल पूरा कर रही है, ऐसे में इन नतीजों से यूपी की जनता का मूड सामने आएगा, इसके साथ ही इन चुनाव के नतीजे यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन की भी परीक्षा है, मायावती ने अखिलेश की पार्टी को इनडायरेक्ट सपोर्ट दिया है, अगर इन दो सीटों पर ये परीक्षण सफल होता है तो 2019 में भी ये दोनों पार्टियां गठबंधन पर विचार कर सकती हैं, गोरखपुर और फूलपुर में मायावती की पार्टी बीएसपी ने अखिलेश यादव के उम्मीदवारों को समर्थन दिया है, 2014 के लोकसभा चुनाव और 2017 के विधानसभा चुनाव और 2014 के लोकसभा चुनाव में इन दोनों ही पार्टियों को बड़ा झटका लगा था, साफ है कि अगर बीजेपी गोरखपुर और फूलपुर की लड़ाई जीतती है तो मतलब होगा कि मोदी और योगी सरकार की नीतियों पर जनता मुहर लगा रही है,

दूसरी तरफ 2019 से पहले ही मायावती और अखिलेश के गठबंधन पर ग्रहण लग जाएगा लेकिन अगर इस जोड़ी का जादू चला तो मोदी के खिलाफ विपक्ष और एकजुट होने की कोशिश करेगा, आंकड़े बताते है कि 2014 में  गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ लगातार पांचवीं बार जीतकर यहां के सांसद बने थे, योगी को 5 लाख 39 हजार और दूसरे स्थान पर रही एसपी की राजमति निषाद को 2 लाख 26 हजार वोट मिले थे, फूलपुर सीट से केशव प्रसाद मौर्य को 5 लाख से ज्यादा वोट मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी और एसपी उम्मीदवार धर्मराज पटेल को सिर्फ 1 लाख 95 हजार वोट मिले थे।

Read More

पटना:-अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति संगठन का पंजीकरण होने से पत्रकार सदस्यों में है खुशी का माहोल

Mar 13, 2018

इंडिया न्यूज लाइव.नेट डेस्क बिहार ।

पटना:-संगठन सदस्यों के अथक प्रयास से अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति संगठन का पंजीकरण से पत्रकार सदस्यों में आज खुशी का माहोल देखा जा रहा है । संगठन के प्रदेश अध्यक्ष विनोद पाण्डेय ने बताया कि फोन से उक्त आशय की जानकारी संगठन के राष्ट्रीय महासचिव महफूज खान ने आज दी और बताया कि अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति द्वारा दिया गया परिचय पत्र व बैनर पत्रकारिता के इस क्षरण के दौर में पत्रकारों के सम्मान में महत्वपूर्ण योगदान देगा । श्री पाण्डेय ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जीग्नेश कलावाडिया के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारा परम सौभाग्य है कि एक कर्तव्यनिष्ठ व पत्रकारों के हित को अपने जीवन का उद्देश्य बनाने वाले राष्ट्राध्यक्ष के रूप में श्री कलावाडिया जी का सानिध्य मिला । संगठन के राष्ट्रीय महासचिव महफूज़ खान ने भारत सरकार के प्रति संगठन के तरफ से आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पत्रकार सुरक्षा कानून पत्रकारों का हक है और हम सम्पूर्ण भारतवर्ष में पत्रकार हित में कार्य करने के लिए वचनबद्ध हैं । उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति सरकार द्वारा  पंजीकरण हो गया है जिसका पंजीकृत क्रमांक S/1873/2018 है । उन्होंने ये भी कहा कि अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति का एकमात्र उद्देश्य भारत में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू हो का है । कोई कहता कि संगठन का आज ही दिवाली, दशहरा,ईद व गुरु पूर्णिमा है तो कोई कह रहा आज पत्रकार के लडाई के लिए एक बैनर एक बोल तैयार कर लिया ।

इसी कड़ी में चंदन कुमार झा (सी.के.झा) एबीपीएसएस सदस्य सह इंडिया न्यूज लाइव.नेट के बिहार के संपादक ने कहा है कि इस तरह के खुशनुमा माहौल बनाने के लिए बिहार प्रदेश अध्यक्ष विनोद पाण्डेय ने काफी मशक्कत की है जिसका परिणाम आज संगठन के सभी सदस्य एकजुट होकर लेंगे । उन्होंने कहा कि हम इस संगठन के लगभग एक वर्ष पूर्व सदस्य माननीय प्रदेश अध्यक्ष विनोद पाण्डेय द्वारा  बनाये गये थे जिसके बाद उन्होंने एक माह के अन्दर ही हमारी कार्यकुशलता को देखते हुए प्रदेश संगठन के कोर कमिटी में जगह दी थी । उन्होंने ये भी कहा कि लगभग एक वर्ष पूर्व से आज तक संगठन दिनानुदिन तरक्की के शिखर पर अग्रसर है जिसका श्रेय बिहार में माननीय प्रदेश अध्यक्ष को जाता है । श्री झा ने कहा कि आज संगठन का अच्छा दिन साबित हुआ है जब हम पत्रकार मित्र रजिस्टर्ड एबीपीएसएस संगठन के बैनर के नीचे पत्रकार हितों का प्रदेश से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक अपनी सुरक्षा, संरक्षा व हमारे साथ हो रहे अपमान आदि की बातों को जोरदार तरीके से सरकार के सामने रख पायेंगे । अन्त में सी.के.झा ने कहा कि जो पत्रकार मित्र इस संगठन से अबतक जुड़ नहीं सके हैं आऐं हमारे संगठन के साथ कदम से कदम मिलाकर अपनी मांग को जोरदार तरीके से एक बैनर के तले रखें । हमारी संगठन एबीपीएसएस  से जुड़ने हेतू हमारे  ह्वाट्सएप नंबर 9934276053 पर भी संपर्क कर सकते हैं हम सदैव आपके साथ मिलेंगे ।

संगठन के रजिस्ट्रेशन हो जाने से भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के बिहार संगठन के सदस्य सहित प्रदेश कमिटी के सदस्यों में काफी उत्साह है । इस अवसर पर संगठन के पत्रकार सदस्य शशिकांत झा,नवेंदू, किशोर,संजय सिंह,अमितेश रवि,रमेश शंकर झा,मुकेश सिंह,राजू,सर्वेश ,विकास राय,कुबेर पाण्डेय अभिनंदन,अवध बिहारी,सुभाष कुमार पांडेय, सुनील ,अजीत आदि सहित सैकड़ों पत्रकार मित्र ने राष्ट्रीय अध्यक्ष , सभी राष्ट्रीय कोर कमिटी सदस्य, बिहार प्रदेश के अध्यक्ष व  सभी  प्रदेश के कोर कमिटी  सदस्यों सहित सभी पत्रकार मित्र सदस्यों ने खुशी जाहिर करते हुए सभी को धन्यवाद दिया ।

Read More

बिहार:-बिहार राज्य के कर्मठ इंडिया न्यूज लाइव .नेट के संपादक व संवाददाता मित्रगण

Mar 1, 2018

बिहार राज्य के कर्मठ इंडिया न्यूज लाइव .नेट के संपादक व संवाददाता मित्रगण ।

1) सी.के.झा  संपादक बिहार:-

2) रजनीश तिवारी सहसंपादक पटना बिहार:-

3) जिला संवाददाता पूर्वी चम्पारण:-

4) प्रखण्ड संवाददाता बिदुपुर (वैशाली):-

5) जिला संवाददाता सारण:-

6) शाहंसाह कैफ प्रखंड संवाददाता चौसा(मधेपुरा):-

7) जिला संवाददाता सुपौल:-

8) जिला संवाददाता मुंगेर:-

9) प्रखंड संवाददाता अरेराज (पू0च0):-

10) प्रखंड संवाददाता हाजीपुर :-

11) जिला संवाददाता भागलपुर:-

12) प्रखंड संवाददाता उदाकिशुनगंज :-

13) कोनैन बसीर (अनुमंडल संवाददाता उदाकिशुनगंज)

14) अंकित कुमार जायसवाल (प्रखंड संवाददाता सोनवरसा)

15) अभिषेक कुमार (जिला संवाददाता वैशाली)

16) संतोष कुमार झा(प्रखंड संवाददाता आलमनगर)

17) सुमन कुमार सिंह (जिला संवाददाता अररिया)

18) विजय कुमार साह (जिला संवाददाता किशनगंज)

19) विकास कुमार मांझी(प्रखंड संवाददाता गडखा)

20) दिलावर अंसारी (जिला संवाददाता बांका)

21) आकाशदीप  (खण्ड संवाददाता नयानगर)

22) एडी खुश्बू ( प्रखंड संवाददाता फलका)

23) किशोर चौहान  (प्रखंड संवाददाता बिहटा) ।

24) गणेश कुमार जिला संवाददाता औरंगाबाद 

 

 

 

 

 

 

 

Read More

पहले पुलिस तंत्र आज की तरह विकसित नहीं -ARUN KUMAR

Feb 27, 2018

ARUN KUMAR

सुपौल। पहले  पुलिस तंत्र आज की तरह विकसित नहीं थी। उस समय पुलिस के नाम से लोग भय खाते थे। उस वक्त भी गांव, टोले, मुहल्ले में पुलिस के सबसे छोटे कर्मी रातभर जागते रहो की आवाज लगाते थे। भरोसा इतना कि लोग बेखौफ आराम की नींद सोते थे। ऐसा नहीं कि चौकीदारी ही खत्म कर दी गई। आज भी अधिकांश गांव में चौकीदार मौजूद हैं, लेकिन अब उनके काम बदल गये। कहीं ये थाने की शोभा बढ़ाते होते हैं तो कहीं साहब के बंगले की। ये थाने की मुखबिर की भूमिका भी निभाते हैं। यानी मुख्य कार्य से ही विमुख हो गई है चौकीदारी।

गांवों की गलियों में जागते रहो की आवाज के साथ लोगों को रात के प्रहर चौकीदारों द्वारा सजग रहने की पहरेदारी अब बीते जमाने की बात दिखाई देने लगी है। गांव के गलियों-मुहल्लों में गांव के बड़े बुजुर्गो का नाम लेते हुए ये चौकीदार नाम लेकर कहते थे  जागते रहो। इस आवाज को सुनकर जहां एक तरफ लोग जग जाते थे वहीं दूसरी तरफ चोर एवं अपराधी भी सजग हो जाते थे।गहरी नींद में सोए लोगों को चौकीदारों द्वारा की जा रही पहरेदारी नसिर्फ उनकी हिफाजत के लिए सजग होने को कहता था। बल्कि यह नियमित रूप से लोगो को समय की जानकारी भी देता था। चौकीदारों को समाज के हर वर्ग के लोगों के बारे में विस्तृत जानकारी होती थी और ये समाज की हर गतिविधियों पर निगरानी रखते थे तथा थाना प्रभारियों को इसकी सूचना उपलब्ध कराने का एक बेहतर जरिया हुआ करता था। थाना प्रभारी भी चौकीदारों से प्राप्त सूचना का बेहतर इस्तेमाल किया करते थे। किसी भी घटना पर अग्रेतर कार्रवाई से पूर्व वे चौकीदारों से इसकी विस्तृत जानकारी प्राप्त करते थे। जिससे गलतियों के कम होने की आशंका रहती थी। परन्तु वक्त के साथ साथ चौकीदारों की भूमिका भी बदल गई। अब ये चौकीदार बैंक चौराहे तथा व्यापारिक प्रतिष्ठानों तक ही पहरेदारी के लिए सिमट कर रह गये। गांव की गलियों में अब रात की चौकीदारी की प्रथा समाप्त हो गई। प्रतिदिन पहरेदारी के प्रथा की समाप्ति का परिणाम भी सामने आ रहा है। लगातार गांवों और शहरों में चोरी की घटना बढ़ती जा रही है। समाज के बड़े बुजुर्गो का कहना है कि चौकीदारों द्वारा की जाने वाली रात्रि पहरेदारी से चोरी की घटना कम होती थी। लोग इनकी आवाज सुनकर सजग हो जाया करते थे और अपराधी प्रवृति के लोग भी सहम जाते थे। आज भी इस आवाज की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

Read More