All for Joomla All for Webmasters

देश बदलना है तो देना होगा युवओ को सम्मान-इडिया न्यूज लाइव डाट नेट की एक रिपोर्ट

May 26, 2018

इडिया न्यूज लाइव डाट नेट की एक रिपोर्ट

” भारत एक युवा देश है। इतना ही नहीं ए बल्कि युवाओं के मामले में हम विश्व में सबसे समृद्ध देश हैं। यानि दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा युवा हमारे देश में हैं। भारत सरकार की यूथ इन इंडियाए2017 की रिपोर्ट के अनुसार देश में 1971 से 2011 के बीच युवाओं की आबादी में 34.8 की वृद्धि हुई है। बता दिया जाए कि इस रिपोर्ट में 15 से 33 वर्ष तक के लोगों को युवा माना गया है ” इस रिपोर्ट के मुताबिकए 2030 तक एशिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश चीन में युवाओं की संख्या जहां कुल आबादी की 22.31 होगी और जापान में यह 20.10 होगीए भारत में यह आंकड़ा सबसे अधिक 32.26  होगा। यानी भारत अपने भविष्य के उस सुनहरे दौर के करीब है जहाँ उसकी अर्थव्यवस्था नई ऊँचाईयों को छू सकती है। लेकिन जब हम युवाओं के सहारे देश की अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने की बात करते हैं तो इस बात को समझना आवश्यक है किए युवा होना केवल जिंदगी में जवानी का एक दौर नहीं होता जिसे आंकड़ों में शामिल करके गर्व किया जाए। यह महज उम्र की बात नहीं होती। यह विषय उस से कहीं अधिक होता है।
यह विषय होता है असीमित सम्भावनाओं का।
यह विषय होता है सृजनात्मकता का।
यह विषय होता है कल्पनाओं की उड़ान का।
यह विषय होता है उत्सुकता का।
यह विषय होता है उतावलेपन के दौर का।
यह समय होता है ऊर्जा से भरपूर होने का।
यह समय होता है सपनों को देखने और उन्हें पूरा करने का।
यह दौर होता है हिम्मत।
कहा जा सकता है कि युवा या यूथ चिड़िया के उस नन्हे से बच्चे के समान है जो अभी अभी अपने अण्डे को तोड़कर बाहर निकला है और अपने छोटे छोटे पंखों को फैलाकर उम्मीद और आजादी के खुले आकाश में उड़ने को बेकरार है।
यह बात सही है कि किसी भी देश के युवाओं की तरह हमारे देश के युवाओं में भी वो शक्ति है कि वो भारत को एक विकासशील देश से बदलकर एक विकसित देश की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दें।
इस देश से आतंकवाद और दहेज जैसी समस्याओं को जड़ से मिटा दे।
लेकिन जब हम बात करते हैं कि हमारे युवा देश को बदल सकते हैं तो क्या हम यह भी सोचते हैं कि वो कौन सा युवा है जो देश बदलेगा
वो युवा जो रोजगार के लिए दर दर भटक रहा है
वो युवा जिसकी प्रतिभा भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाती है
वो युवा जो वंशवाद का मुखौटा ओढ़कर स्वयं को एक विकल्प के रूप में प्रस्तुत करता है
वो युवा जो देश में अपनी प्रतिभा को उचित सम्मान न मिलने पर विदेशी कंपनियों में नौकरी कर देश छोड़कर चले जाने के लिए विवश हैं
वो युवा जिसके हाथों में ड्ग्रिियाँ तो हैं लेकिन विषय से संबंधित व्यवहारिक ज्ञान का सर्वथा अभाव है
वे साक्षर तो हैं शिक्षित नहीं
शिक्षित तो छोड़िए संस्कारित भी नहीं
या वो युवा जो कभी तीन माह की तो कभी तीन साल की बच्ची तो कभी निर्भया के बलात्कार में लिप्त है
वो युवा जो आज इंटरनेट और सोशल मीडिया साइट्स की गिरफ्त में हैघ्
या फिर वो युवा जो कालेज कैम्पस में किसी राजनैतिक दल के हाथों का मोहरा भर है
तो फिर कौन सा युवा देश बदलेगा
इसका जवाब यह है कि परिस्थितियां बदलने का इंतजार करने के बजाए हम स्वयं पहल करें।
अगर हम चाहते हैं कि युवा इस देश को बदले तो पहले हमें खुद को बदलना होगा।
हम युवाओं का भविष्य तो नहीं बना सकते लेकिन भविष्य के लिए युवाओं को तैयार तो कर ही सकते हैं।
हमें उन्हें सही मायनों में शिक्षित करना होगा।
उनका ज्ञान जो किताबों के अक्षरों तक सीमित है उसे व्यवहारिक ज्ञान की सीमाओं तक लाना होगा।
उसे वो शिक्षित युवा बनाना होगा जो नौकरी देने वाला उद्यमी बनेए एक एन्टरप्रेन्योर बने न कि नौकरी ढूंढने वाला एक बेरोजगार।
उन्हें शिक्षित ही नहीं संस्कारित भी करना होगा।
उन्हें अपनी जड़ों से जोड़ना होगा।
पैसों से ज्यादा उन पर समय खर्च करना होगा।
उन्हें प्रेम तो हम देते हैं सम्मान भी देना होगा।
हमें उन युवाओं का निर्माण करना होगा जो देश के सहारे खुद आगे जाने के बजाय अपने सहारे देश को आगे ले जाने में यकीन करते हों।
हमें सम्मान करना होगा उस युवा का जो सड़क किनारे किसी बहते हुए नल को देखकर चुपचाप निकल जाने के बजाय उसे बन्द करने की पहल करता है।
हमें आदर करना होगा उस युवा का जो कचरा फेंकने के लिए कूड़ादान ढूँढता है लेकिन सड़क पर कहीं पर भी नहीं फेंक देता।
हमें अभिवादन करना होगा उस युवा का जो भ्रष्टाचार के आगे घुटने टेकने के बजाय लड़ना पसंद करता है।
हमें समादर करना होगा उस युवा का जो दहेज लेने से इंकार कर देता है।
हमें इज्ज़त देनी होगी उस युवा को जो महिलाओं का सम्मान करना जानता हो उनका बलात्कार नहीं।
हमें सत्कार करना होगा उस युवा का जो फूलों का बगीचा लगाने में विश्वास करता है फूल तोड़ने में नहीं।

और यह हर्ष का विषय है कि ऐसे युवा हमारे देश मेंए हमारे समाज मेंएहमारे आसपास हमारे बीच आज भी हैंए बहुत हैं। आज जब हमारा सामना ऐसे किसी युवा से होता है तो हम मन ही मन में उसकी प्रशंसा करते हैं और निकल जाते हैं। अब जरूरत है उन्हें ढूंढने की और सम्मानित करने की। आवश्यकता है ऐसे युवाओं को प्रोत्साहित करने की।एक समाज के रूप मेंए एक संस्था के रूप में  ऐसे युवाओं को जब देश में सम्मान मिलेगाए पहचान मिलेगीए इन्हें शेष युवाओं के सामने यूथ आइकान और रोल मोडल बनाकर प्रस्तुत किया जाएगाए तो न सिर्फ यह इसी राह पर डटे रहने के लिए उत्साहित होंगे बल्कि देश के शेष युवाओं को उन की सोच को एक लक्षय मिलेगा एक दिशा मिलेगी। जब हमारे देश के युवा सही दिशा सही और लक्षय पर चल निकलेंगे तो सही मायनों में यह कहा जा सकता है कि आने वाला कल भारत का ही होगा।
                                                                                                                                                                          डॉ नीलम महेंद्र

Read More

पटना:- हमें हमारी एक दूसरे को नीचा दिखाने की सोंच से बाहर आना होगा, हमें पत्रकारों की सहायता हेतू आगे आना होगा:- राकेश कुमार गुप्ता

May 19, 2018

सी.के.झाकी एक रिपोर्ट ।

पटना:- हम अपने कर्तव्यों के प्रति आखिर इतने उदासीन क्यों हैं ? कहीं हम झुठे अहंकार के शिकार तो नही हैं ? ये प्रश्न भी वाहे बगाहे मेरे मन में कौंधता है । आखिर हम पलासी युध्द के मूकदर्शक छवि की भूमिका में क्यों हैं? हम अपने लोगों की सहायता में योगदान देने से कतराते क्यों हैं ? क्या हमारी दृढ इच्छा शक्ति का क्षरण हो चुका है ? ये बहुत से सवाल हमारे सामने खड़े हैं।हमें हर हाल में इन प्रश्नों के उत्तर ढूंढ़ने होंगे । हमें हमारी एक दूसरे को नीचा दिखाने की सोंच से बाहर आना होगा ।

उक्त बातें नेशनल जर्नलिस्ट एसोसियेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता ने कही। उन्होंने कहा कि चरित्र रावण का भी था कि अपने अहंकार में अपने बंधु-बांधवों को बलि बेदी पे चढ़ा कर खुद भी मौत की आगोश में चला गया।चरित्र पांडवों का भी था कि एक दूसरे के प्रति समर्पित रह कर कम संख्या रहते हुए भी विजयी रहा।राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता ने कहा कि बिहार में पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर एक अभियान चलाया जा रहा है।संगठन ने निर्णय लिया है कि बिहार में एक राष्ट्रीय अधिवेशन हो और हम अपनी मांग बिहार सरकार के सामने रखें । “नेशनल जर्नलिस्ट एसोसियेशन ”पत्रकारों को स्वतंत्रता से कार्य करने का संपुर्ण भरोसा दिलाता है । चाहे आप किसी भी संगठन अथवा गैर संगठनवादी हो, झिझकने की आवश्यकता बिल्कुल नहीं है । आप स्वतंत्र हैं ,यहाँ नि:शुल्क नाम पंजीकृत करवाने के लिए ।क्योंकि हमारा मकसद है एक ही छत्रछाया हो पत्रकारिता जगत की ,जिससे कोई बाल बांका ना कर सके ,कोई शोषण ना कर सके , हमारे जांबाज पत्रकार योद्धाओं का। बिहार हो या उत्तर प्रदेश या फिर दिल्ली।हमारा संगठन दिल खोल कर पीड़ित पत्रकार को न्याय दिलाने का काम किया है। श्री गुप्ता ने कहा कि हमारे संगठन का उद्देश्य पत्रकारों के हितार्थ-सुरक्षार्थ पत्रकार सुरक्षा कानून बनवाना है। जिससे हमारा पत्रकार परिवार पूर्ण रूप से सुरक्षित रहें एवम् स्वतन्त्र अभिव्यक्ति में किसी प्रकार की बाधा ना आये।

राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता ने कहा कि प्रताड़ित पत्रकारों की आवाज हम बुलन्द कर रहे हैं और करते रहेंगे। कार्यवाही हेतु मुख्यमंत्री,डीजीपी डीआईजी,आईजी,सांसद तक को संगठन के स्तर से पत्र लिखकर उन्हें न्याय दिलाया जा रहा है। हम लगातार अपने संगठन की ओर से पत्रकारों की आवाज बन कर उभर रहे हैं। मधेपुरा के उदय कुमार,गौरव ठाकुर, खगड़िया के राजेश कुमार सिन्हा, पूर्णिया के मनोज कुमार मिश्रा, कटिहार के भाई संजीव गुप्ता,यूपी के रमेश ठाकुर, रायबरेली के मनीष शुक्ल,मुंगेर के कई मित्रों के साथ स्थानीय प्रशासन,दबंगो द्वारा प्रताड़ित किया गया।जिसका हमारी संगठन ने विरोध दर्ज कर धरना प्रदर्शन किया। लगातार अपनी आवाज को बुलंद की और पत्रकार बंधुओं को न्याय दिलाया गया।

नेशनल जर्नलिस्ट एसोसियेशन के राष्ट्रीय महासचिव संजय कुमार सुमन ने कहा कि आए दिन पत्रकारों पे अपराधियों के द्वारा हमले हो रहे हैं तो कहीं प्रसाशन के द्वारा पत्रकारों के कलम को रोकने के लिए फर्जी मुकद्दमे किए जा रहें हैं।देश में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू हो नेशनल जर्नलिस्ट एसोसियेशन ने समस्त भारत में अभियान छेड़ा है। आज हम सब इस सच्चाई से भली भांति परिचित हैं कि शासन -प्रशासन में बैठे लोग पत्रकारों के साथ किस तरह के व्यवहार कर रहे हैं ।अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि आए दिन कोई न कोई पत्रकार उनका शिकार हो रहा है। राष्ट्रीय महासचिव श्रीसुमन ने कहा कि देश मे हो रही पत्रकारों की हत्याएं और पत्रकार उत्पीड़न को देखते हुए हमने और हमारे साथियो के साथ इस संगठन की नींव रखी थीं, जिसको पुरे देश से भरपूर समर्थन मिल रहा है। आज एक बड़ी ताकत के रूप में हमारी पहचान बन गई हैं। हमारी लड़ाई सिर्फ पत्रकारों को सुविधा दिलाने के लिए नहीं हैं बल्कि हम पत्रकारों का मनोबल बढाकर उसके सम्मान और सुरक्षा के लिए एक आंदोलन के रूप में खड़े हुए हैं और इनके पीछे हमारी मंशा लोकतंत्र को सुदृढ़ बनाकर देश को ओर मजबूती प्रदान करने की हैं।श्री सुमन ने कहा कि आज के दौर में जब पत्रकारिता कॉर्पोरेट की दासी बनकर रह गई है। उनको हम फिर भारत माता की सरताज बनाना चाहते हैं। एक पत्रकार ही हैं जो अपने कर्तव्यों का वहन करते हुए इस राष्ट्र को उन्नत बना सकता हैं। हमें फिर से आज़ादी के दौर वाले भगत सिंह और गांधीजी जैसे पत्रकारों को इस पवित्र धरती पर पैदा करना हैं।

आज की सरकाऱे पत्रकारों की आज़ादी की पक्षघर नहीं है इसलिए हमें उनसे संघर्ष करके हमारा अधिकार प्राप्त करना पड़ेगा।

Read More

Suvyan 2018 : Annual Design Collection show of NIIFT held

May 16, 2018

– Graduating students of Textile Design Dept showcase 52 collections

Chandigarh, May 16th 2018 – Creative facet of Textile Design Department will be manifest in “SUVYAN”-2018, the Annual Design Collection show of Home Furnishing & Apparel Products put together by the graduating students of Textile Design Department of Northern India Institute of Fashion Technology, Mohali at Hotel Shivalikview.

The final presentation is an integration of the learning that the students imbibe during their education at the institute. Through the media of colors, materials, finishes and techniques students express their individual statements as design solutions for Fabrics, Home Furnishing Products, Stoles, and Apparels.

Sh. Sundar Sham Arora, Hon’ble Minister of Industries and Commerce, Punjab conveyed his good wishes and message for the success of the students.

Sh. Rakesh Kumar Verma, IAS, Principal Secretary, Department of Industries and Commerce, Punjab cum Chairman, NIIFT conveyed his blessings and wishes to the passing out students of Textile Design Department.

Sh. DPS Kharbanda, IAS, Director of Industries and Commerce, Punjab cum Director General, NIIFT who had previewed the collections earlier conveyed that the students had shown a very creative aspect of design which will definitely contribute to their success in the industry.

 Due to the Punjab Agri &Food Conclave at Ludhiana, Hon’ble Industries and Commerce Minister, Chairman, NIIFT and Director General, NIIFT regretted that they would miss the function today.

SUVYAN’ 2018 showcased 52 collections by the graduating students of Textile Design Department. Each student worked with an industrial client for a period of 5 months which lead to the development of their individual collections and exhibition of design work. Students created var

ious products such as Scarves, Stoles, Home Furnishing Products as Bed sheets, Cushions, Duvet Covers etc. These were created as per the requirement and demand of the industry and their buyers.

The faculty members Ms. Shweta Sharma, Ms. Deepti Sharma, Ms. Indeep Sukarchakia, and Ms. Navneet Kaur played a vital role in guiding and mentoring the students so as to get a better outcome of their work.

An eminent jury made up of Textile designers, Industry experts and Art proponents were invited to evaluate the collections for the awards. The jury included  Mr. Yogesh Verma, Director, May Design Studio, Ms. Isha Kaushal, Senior Designer at May Design Studio and Mr. Sanjay Kulsheshtra, Asst.Vice President, Nahar Fabrics, Lalru.

The students worked with big names in the industry as Nahar Fabrics, Vardhaman, May Design, Bombay Dyeing

, Indi Tex, Sogani Fashions, Meena Bazaar, Raga block printed, Shingora Shawls, Trident, Arvind Mills to name a few.

 Speakin

g on the occasion Sh. K.S Brar, Director NIIFT said “Suvyan plays an important role for our students to uncover their best creations. The collections are very creative, original and visually pleasing.”

  1. Inderjit Singh, Registrar, NIIFT said “Suvyan is one of the best laid out exhibitions and I am confident
    that these students will contribute highly to put Indian Textile on the world map.”

 “Keeping up to its commitment for nurturing and promoting new talent in the Indian Textile Industry ‘SUVYAN 2018’ is a platform for our students to reveal their best creations and each design presented is inimitable and reflects the student’s reverence for art, culture and nature”, said Ms. Shweta Sharma, Course Co-coordinator, Textile Design Department.

Some of the collections were:-

Palak Sahani worked at Sogani Fashions, Jaipur. She took birds as one of her inspiration, Mughal era being the second and the third one being Tribal Reminiscence which had the inspiration from geometric motifs and Aztec patterns. She showcased her work in the form of beautiful apparels and scarfs collection. One of her themes has also been selected for BIBA, India for their September-October collection.

Praveen Kumar worked at Shingora Textile Limited, Ludhiana, Punjab. He undertook the themes of Medieval Art and Architecture, Disco Light and Floral Craft. He showcased his creativity through an extravagant scarves collection with different techniques such as embroidery, extra weft technique, tie and dye, ombre dye and printing.

Bhawana Bharti worked at May Design Studio, Gurugram. She explored different techniques like crewel embroidery, towel stitch, machine embroidery, fabric manipulation etc. She worked upon three themes like Boho which had a fusion of boho and kilim patterns, Outdoor Coastal which included under the sea features and Christmas Night for the joyful Christmas décor. She presented her themes through a range of cushions.

Shubham Keshree worked at Bombay Dyeing, Mumbai. He created two themes being Mood Indigo which was inspired from the traditional technique of tie and dye called shibori and Basics Only, essentially a recollection of typical summer days. These were showcased through a range of bed sheets and cushions.

Akshit Joshi worked at Nahar Industries, Lalru, Punjab. He worked upon four themes for fabric development. First one being Meadow Flora -inspiration being floral grasslands, second one was Surface Stitch- inspiration being loop yarns, third one was Appaloosa Spots- inspiration being dots and textures from nature  and the fourth one was Vibrant Madras- inspiration being yarn dyed checks.

Prashant Saurabi worked at Jindal Worldwide Ltd.  Ahmedabad. He created three themes Fancy Floral, Paisley Park and Steel Magnolia. His basic idea was to convert women’s prints into men’s prints.

Saloni Srivastava: Interned at Raaga Block Printing Pvt. Ltd. Jaipur. She created three themes – Geo Spice, Mughal and Rajwada. She showcased her work through an attractive collection of sarees, capes and dupattas.

Read More

‘Kurta Chadra’ from Carry On Jatta 2 will bring love

May 16, 2018

This song is joint presentation of White Hill Music and A & A Advisors

Chandigarh 15th May 2018. The upcoming comedy film Carry On Jatta 2 has always been in headlines since its been announcement. As the two songs have already released, the title track ‘Carry On Jatta 2’ and ‘Bhangra Pa Layie’, the film has created more ripples of excitement. Both were successful to attract the audiences and trend the lists. The third song of movie ‘Kurta Chadra’ is out now.

The lyrics of the song are jotted down by ace lyricist turned singer of Pollywood Happy Raikoti. The star of the movie Gippy Grewal and ‘Kinna Pyar’ and ‘Laung Laachi’ fame Mannat Noor have given vocals to the song. The Bhangra beats are composed by Gurmeet Singh under White Hill Music label. The song is produced by White Hill Music’s Gunbir Singh Sidhu and Manmord Sidhu and Atul Bhalla and Amit Bhalla.

At this moment Gippy Grewal said, “This is very different kind of music as it is very romantic, plus you can do bhangra on the beats. It even has some folk touch. Carry On Jatta also had a song of this feel ‘Phulkari’. But this one is more fun. I personally like duet numbers, because whenever you get a chance to collaborate with another singer you get to explore more with music. Although the whole album of carry On Jatta 2 is very close to my heart but this genre is my favourite.”

“At White Hill Productions, we as a team are trying our best to provide quality to our audiences whether it is songs or movies. But when it comes to music, maybe we become too choosy. And this album ‘Carry On Jatta 2’ is our dream project. We have done our best and just hope people will love it, making it as successful a project as Carry On Jatta”, Gunbir Singh Sidhu and Manmord Sidhu of White Hill Productions quoted.

Carry On Jatta 2 will hit the theatres worldwide on 1st June  2018.

Read More

Caressa& Jianna fashion labels : Zenitex launched their collections at a dazzling fashion show at Mumbai

May 16, 2018

Sonali Viral Desai and her daughter Jeeya Desai launched of their brands Caressa and Jianna that work around the concept of ‘Fashion for a cause’

Mumbai, 2018:It was indeed a special moment when Caressa&Jianna fashion labels from Zenitex launched their collections at a dazzling fashion show at St Andrews Auditorium in Bandra, Mumbai. The magnificent annual fashion show ‘Colour Power 2018’ was organised by NIIFD (National Institute of Interior and Fashion Design).

The highlight of the show was the introduction of designer Sonali Viral Desai and her daughter Jeeya Desai to the fashion world with the launch of their brands Caressa and Jianna that work around the concept of ‘Fashion for a cause’. Sonali along with her daughter Jeeya was inspired by the social work done by her husband Viral Desai, a noted philanthropist and entrepreneur from Surat. Viral Desai who is CEO of Zenitex, also heads Hearts@Work Foundation which has worked for many cancer check-up camps and ‘Clean India – Green India’ tree plantation drives. The mother and daughter duo decided to contribute towards Viral’s cause which gave birth to these fashion labels as a percentage from every product sold by these labels will directly go to Charity and  Tree Plantation equally through the Foundation.

It was indeed a rare sight when a 12-year-old girl walked the ramp for the Mumbai based fashion designer Namrata apart from launching her own label. Moreover, her father Viral Desai, was honoured and invited to the show as a guest of honour along with famous personalities like VikramPhadnis, fashion designer ArchanaKochar, and Dr. Anjani Prasad, MD of Archroma. Viral Desai is a well-known figure with an array of national and international awards and achievements in his name.

The label was born out of the urge to help the Hearts@Work Foundation and follow the philosophy of Zenitex which says, ‘A business that makes nothing but Money is poor business ’. He believes in philanthropy business model of giving back to society on the footsteps of organisations like Tata Group was pleased and overwhelmed with the efforts of his wife and daughter.

Read More

मनीष निगम बनाये गए चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल युथ एसोसिएशन (CIYA) के अध्यक्ष

May 16, 2018

 

चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल युथ एसोसिएशन के शनिवार दिनाक 12 /05 /2018 को हुए वार्षिक समारोह में सर्वसम्मति से श्री मनीष निगम को अध्यक्ष पद के लिए नामित किया गया वर्तमान में वो चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल युथ एसोसिएशन महासचिव थे । इस एसोसिएशन में लगभग दो सौ सदस्य है जो CIYA के एग्जीक्यूटिव कमिटी के सदस्य के साथ मिलकर  समय समय इंडस्ट्रीज के बेहतरी के लिए कदम उठाते रहते है।

वही चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल युथ एसोसिएशन के निवतर्मान अध्यक्ष  श्री अवि भसीन अब CIYA के चेयरमैन बनाये गए है।
समारोह के अंत में पूर्व अध्यक्ष अवि भसीन ने धन्यवाद भाषण दिया और सभी सदस्यों को सहयोग के लिए बधाई दी, वही नव नियुक्त अध्यक्ष श्री मनीष निगम ने सभी सदस्यों से मिलकर आगे आने और इंडस्ट्री के बेहतरी के लिए मिलकर काम करने की इच्छा जताई और बताया की अगले दो दिनों में वो नयी कमिटी का गठन करेंगे
इंडस्ट्रियल एरिया फेज 2 स्थित निगम साइंटिफिक वर्क्स के मालिक  श्री मनीष निगम कायस्थ सभा ट्राइसिटी के अध्यक्ष, बीजेपी स्माल एंड माइक्रो इंडस्ट्रीज सेल के कन्वेनर एवं RWA मोयियाज़ रॉयल सिटी, जीरकपुर के महासचिव भी है।
इस वार्षिक समारोह में  CIYA  चंडीगढ़ के निम्नलिखित सक्रिय सदस्य के अलावा  करीब 125 सदस्य उपस्थित रहे।
हरिंदर सिंह सलच, दीपक शर्मा, रितेश अरोड़ा , दीपक अरोड़ा , महेश जैन , अभय गुप्ता , दीपक पराशर , हरसिमरन सिंह , मनु वोहरा , अरुण शर्मा , करण वासुदेवा , दीपक कुमार , रमनदीप सिंह , जरनैल सिंह।
Read More

दो दिवसीय  इंटरनेशनल रीजनरेटिव मेडिसिन कॉन्क्लेव 2018, चंडीगढ़ में संपन्न  

May 16, 2018
कॉन्क्लेव की थीम रही   स्टेम सेल और रीजनरेटिव मेडिसिन के  बहुआयामी स्वास्थ्य देखभाल के अनुप्रयोग 
चण्डीगढ़। एंटी एजिंग फाउंडेशन ( सोसाइटी ऑफ़ रिजेनरेटिव एस्थेटिक एंड फंक्शनल मेडिसिन ) तथा इंडियन स्टेम सेल स्टडी ग्रुप द्वारा दो दिवसीय द्वितीय इंटरनैशनल रिजेनरेटिव मेडिसिन कॉन्क्लेव 2018 रविवार को नए नए विचारों व् निष्कारकों के साथ संपन्न हुई
उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुए एंटी एजिंग फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ. प्रभु मिश्रा ने कहा कि स्टेम सेल रिसर्च एवं थेरेपी के जरिये अब हमें ये पता चल रहा है कि बीमारी व ढलती उम्र में कैसे अपने शरीर को फिर से युवा, बलवती और सक्षम बनाया जा सकता है। असंख्य लोग अब तक विभिन्न स्टेम सेल थैरेपीज़ के द्वारा पहले से ही लाभान्वित हो चुके हैं। हालाँकि ये अभी शुरूआती दौर है। अभी इस क्षेत्र में बहुत काम होना बाकी है व इसमें असीम संभावनाएं हैं।
इंडियन स्टेम सेल स्टडी ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. मनीष खन्ना, जो इस सम्मलेन के साइंटिफिक चेयरमैन भी हैं, ने इस मौके पर कहा कि आज की कांफ्रेंस भारत में अब तक हुई स्टेम सेल कॉन्फरेन्सेस में सबसे बड़ी साबित होने जा रही है। उन्होंने कहा कि यहाँ पूरी दुनिया भर से वैज्ञानिकों के साथ-साथ उद्योग व निवेश के क्षेत्र से भी विशेषज्ञ जुटें हैं जोकि एक उपलब्धि है। यहां मौजूद लोगों की ऑर्थो, कैंसर, शुगर जैसे मेटाबोलिक डिसऑर्डर्स, लीवर से जुड़ीं बीमारियों, कार्डियक फेलयर, एस्थेटिक व ऑटो इम्यून डिसीस आदि के इलाज़ व रोकथाम में स्टेम सेल रिसर्च में विशेष रूचि में एक वैश्विक फोकस की झलक प्रदर्शित हो रही है ,डॉ. खन्ना ने कहा।
सम्मलेन के ऑर्गेनाइजिंग चेयरमैन डॉ. राजेश गुलिया ने भी अपने विचार रखे।
उन रोगियों के लिए  स्टेम सेल थेरेपी वरदान  साबित होने वाली है  जिनको  उपलब्ध लेटेस्ट दवाओं   या सर्जरी से फायदा न पहुँच रहा हो और रोग  लाइलाज बन गया  हो, आने वाला समय इसी का है की दवाओं से परे अपने शरीर में ही ऐसा कुछ बदलाव लाएं की शरीर अपना इलाज / रिपेयर खुद ही करने में सक्षम हो जाये
Read More

Students of Northern India Institute of Fashion Technology present final degree projects.

May 16, 2018

Chandigarh, May 12th,2018 – Students of M.Sc in Fashion Marketing & Management

(FMM) as well as Garment manufacturing Technology (GMT) of Northern India Institute of Fashion Technology, Mohali presented their final Degree Projects at Hotel MAYA PALACE,Chandigarh.

The jury evaluating the Degree projects comprised of eminent personalities Mr. Chandrakant Nirala, Head,Industrial Engineering cum Production Dept,Nahar,Ludhiana and Ms. Alisha Kapur,Head,Visual Merchandising,H&M.

Master’s in Fashion Marketing and Management has been designed to fulfill the requirements of the Retail Sector and  Garment Manufacturing Technology fulfills the need of garment manufacturing industry.

The students work in conjunction with the known names of the industry for a period of three months and find out areas of concern thereby giving suggestions, implementing and helping the units to resolve the problems being faced by the factory or management inorder to compete in the market.

Three months of research work is  scrutinized and monitored by the industry experts  and faculty at NIIFT. Evaluation after every month results in giving refined work which provides practical solutions to industrial problems and also help in enhancing productivity.

Research work, is a part of the project, which provides a challenging platform to the students to extend and demonstrate the analytical skills necessary for decision making.

This year a total of 12 research projects  from FMM department and  7 projects from GMT department were presented. The research of students in FMM department   focused on different areas like Analysis of the consumer prefrences with respect to kids  brand , Translating need for touch to online fashion shopping , Importance of product photoghraphy in e commerce, Impact of Visual Merchandising Techniques on consumer behavior while in GMT department students undertook research on areas like Productivity Enhancement in sewing Line using PRO-SMV method, Case Study on line Balancing using Ranked Positional Weight Method, Manual Material Handling in Context of Ergonomics, Case Study of Understanding Pre-Production Planning and Export Oriented Purchasing Process to name a few.

 NIIFT is under the administrative control of the Department of Industries and Commerce, Punjab and  is functioning under the dynamic leadership and able guidance of the Hon’ble Minister of Industries & Commerce,Government of Punjab, Sh. Sunder Sham Arora.

Read More