All for Joomla All for Webmasters

सी.के.झा की एक रिपोर्ट ।

पटना:-भागलपुर जिला में संचालित गरिमा रियल इस्टेट एंड एलाइड लिमिटेड एवं गरिमा होम्स एंड फर्म के कार्यालय से संबंधित धोखाधड़ी का मामला सामने आया है । बता दें कि मामला करोड़ों रुपए लेकर गरिमा का चंपत हो जाने का  है । गरिमा रियल इस्टेट एंड एलाइड लिमिटेड एवं गरिमा होम्स एंड फार्म में लाखों करोड़ों रुपए का मामला निवेशकों से जुड़ा है जो मिलना गर्भ में दिखाई दे रहा है । गरिमा पर  पैसा वापसी नहीं होने के कारण कुछ निवेशक सीजेएम कोर्ट भागलपुर की शरण में जाना उचित समझा ।

मामला 2016 से भागलपुर सीजेएम कोर्ट में-

श्री चंद्रानन झा ने परिवाद पत्र दायर 2016 में ही किया है जो मामला गतिशील है । यह मामला श्री चंद्रानंद झा ने गरिमा  द्वारा गबन किए गए करोड़ों रुपए को लेकर दायर किया है जो 2016 में अक्तूवर  का है जिसका केस नंबर 1641/16 के तहत कार्यवाही जारी  है । जानकारी के अनुसार यह केस 19.10. 2016 को दायर किया गया है । जबकि मिली जानकारी से भागलपुर में इसकी शाखा मई 2010 से ही संचालित बताई जाती है एवं बिहार में पटना,हाजीपुर व भागलपुर तीन शाखा ही इनके खुले थे जो वर्तमान समय में सभी बंद है ।

मामला निवेशकों का 12:50 करोड़ का–  

मुकदमा में रियल इस्टेट एण्ड एलाइड लिमिटेड व गरिमा होम्स एंड फार्म के बनवारी लाल कुशवाहा ,शिवराम कुशवाहा , कन्हैया लाल कुशवाहा, बालकिशन कुशवाहा, शोभारानी कुशवाहा , राजेंद्र राजपूत, भीम सिंह कुशवाहा, लज्जाराम कुशवाहा आदि पर किया गया परिवाद में आवेदक ने निवेशकों का 12:50 करोड़ का पेमेंट नहीं करने व तत्काल धोखाधड़ी व गमण का आरोप लगाया है ।  जिसमें श्री झा ने साक्ष्य  सहित कोर्ट में परिवाद दायर किया है । श्री चंद्रानन झा  ने आवेदन में अपने परिवार के भी 4000000 (चालीस लाख) रुपए का निवेश हुआ बताया है । उन्होने केश दायर कर कहा है गरिमा रियल इस्टेट कार्यालय 2015 तक भागलपुर के मनाली चौक स्थित यामहा  शोरुम में चौथवीं फ्लोर पर चल रहा था जो कि 2015 से ही बंद पडा है और शाखा बंद कर कंपनी फरार है ।

गरिमा  का रजिस्ट्रेशन व मुख्य कार्यालय–

गरिमा  का रजिस्ट्रेशन न0-19955,  रजिस्टर्ड कार्यालय- 403 सौरव प्लाजा गोल का मंदिर ,नजदीक सुरुचि होटल ,ग्वालियर (MP) है तथा कारपोरेट कार्यालय- 459 पटपड़गंज इंडस्ट्रियल एरिया दिल्ली 93 फोन नंबर +91114735468, 4735582 जो निवेशक के एग्रीमेंट में निहित है । इसमें यह भी बताया गया है कि उस समय इस कार्यालय के शाखा प्रबंधक गौरी शंकर झा जो दरभंगा के थे के देखरेख में कार्य संपादन एग्रीमेंट देने व रसीद देने का कार्य होता रहा था । इनके बाद शाखा का कार्यभार प्रबंधक  मनोज कुमार पटना निवासी ने संभाल रखा था । मिली जानकारी से 2015 तक मनोज ने ही शाखा का वर्तमान कार्य प्रभारी रहे । इन  दिनों शाखा से कुछ प्लान का कुछ निवेशकों का मैच्योरिटी भी प्राप्त हुआ था । इसके बाद और मैच्योरिटी करने से पहले ही गरिमा का कार्यालय बन्द हो गया । इसी मैच्योरिटी को लेकर अशोक चौधरी,राजेश चौरसिया,अमन खान के साथ आवेदक चंद्रानन झा भी दिल्ली मुख्यालय में कंपनी के प्रबंधन से कई बार मिलने भी गए लेकिन कार्य सिफर रहा । श्री झा ने कहा कि हमलोगों के मुख्यालय में प्रबंधन के साथ 2-3 मुलाकात के बाद  प्रबंधन द्वारा 5200000 (बाबन लाख) का चेक भी  दिया गया , जिसे निवेशक के बेंकों में अपने खाता में डालने के बाद बाॅन्स हो गया। मिली जानकारी के अनुसार बालकिशन  कुशवाहा धौलपुर राजस्थान से बसपा के विधायक भी रहे हैं जो अभी हत्या के मामले में जेल में हैं । बतादें कि उपरोक्त आरोपियों में से शोभारानी कुशवाहा भी अभी वर्तमान में बीजेपी की विधायक हैं । श्री झा का कहना है कि इस प्रकार के कम्पनी के संचालक राजनीतिक जीवन से जुड़कर अपने को निवेशकों से बचने का रास्ता ढूंढकर चंपत होने से बाज तक नहीं आते । इनका कहना है कि ये लोग  इसी राजनीति के पहुँच के बदौलत निवेशकों के चंगुल से निकल कानून को धता बताने से भी नहीं चूकते । जरूरत है सरकार व कानून के सिपाहियों से ऐसे लोगों से निवेशकों को कानूनन न्याय दिलवाने की ।

परिवाद में गवाह—

इस प्रकरण में साक्षी के रूप में अशोक चौधरी,राजेश कुमार चौरसिया, मो0 अमन खान,मो0 फकरूद्दीन उर्फ फेकू ,कैलाश शर्मा आदि का नाम वर्णित है । जिसमें कुछ का गवाही व बयां भी लिखित रूप से कोर्ट ने लिया है ।

गरिमा रियल इस्टेट एण्ड एलाइड लिमिटेड  व गरिमा होम्स एंड फर्म में  लगभग 125000000 (साढे बारह करोड़) लाख रुपये का मामला  निवेशकों से जुड़ा है ।

कोर्ट ने लगाया सुसंगत धारा—-

इस मामले में कोर्ट ने मुख्य रूप से धारा 406 ,420 467, 468, 476, 120 बी /34 भा0स0वि0 के अंतर्गत प्रथम दृष्टया दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर आरोपियों को नोटिस भी किया है ।

लगभग आधा दर्जन जिले के निवेश डूबे–

हजारों निवेशकों का भागलपुर जिले में उस समय स्थित इस कार्यालय में लगभग आधा दर्जन जिलों से जमा करोड़ों का निवेश हुआ था  जिसमें भागलपुर,कटिहार, पूर्णिया, सहरसा ,मधेपुरा, खगड़िया आदि जिले का निवेशक है ।

निवेशकों की मांग निवेश की रकम वापस हो-

निवेशकों की मांग है कि हम लोगों का  जल्द से जल्द सरकार निवेश किये रूपये वापस दिलवाने हेतू सहयोग करें ।

निवेशक अशोक चौधरी, राजेश कुमार चौरसिया,  मोहम्मद अमन खान, मोहम्मद फखरुद्दीन उर्दू फेकू, राजीव रंजन ठाकुर, पवन कुमार ,वीरेंद्र कुमार ,अमन आर्या, मो0 नियामत आलम ,रीना झा ,राजकिशोर कुंवर, सिंटु ठाकुर,विजय कुमार झा, देवेंद्र कुमार सिंह ,घोलट झा, अमोद कुमार झा ,चंदन कुमार झा आदि ने प्रशासन से मांग की है कि हजारों निवेशकों का जमा धन वापस करने की पहल में सरकार व प्रशासन सहयोग करें जिससे कड़ोड़ों निवेश  किये गये पैसे को वापस दिलवाये जाने में मदद मिल सके ।

EDITOR BIHAR