Breaking News

दर्द ने ज्ञानदेव को बना दिया खेल गुरु, गांव के बच्चों को सिखाने लगे बॉल बैडमिंटन,करवाये चार स्टेट लेवल प्रतियोगिता

🕳️ नावगछिया (बिहपुर) जगाया अलख

पवन कुमार झा की एक रिपोर्ट।

भागलपुर।

बात वर्ष 2006 की है बिहपुर निवासी कबड्डी के राष्ट्रीय खिलाड़ी ज्ञानदेव कुमार घुटने में चोट लगने की वजह से चोटिल हो गए थे। ज्ञानदेव फिर कभी कबड्डी नहीं खेल पाये। ज्ञानदेव एक तरफ घुटने की दर्द से कराहते थे, तो दूसरी तरफ सपने टूटने के गम में वह अंदर ही घुट रहे थे।दर्द के साथ उनका जुनून भी बढ़ता गया। इसी दौरान पुरानी किताबें की साफ -सफाई के दौरान उन्हें एक सूत्र वाक्य मिला। ‘ हिम्मते ए मर्द,मदद ए खुदा’। इससे प्रेरित होकर ज्ञानदेव ने इतनी बड़ी लकीर खींचने की ठान ली कि हर लकीर छोटी पर जाये। इसके बाद तो उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। घुटने का दर्द बढ़ता गया,तो दूसरी तरफ खेल के प्रति उनका जुनून भी। उसी दौर में ज्ञानदेव ने एक नये खेल बॉल बैडमिंटन को नावगछिया की धरती पर उतारा और बिहपुर में समाप्त हो रहे खेल के माहौल को एक बार फिर से पुनजीर्वित किया।

20 साल से खेल के क्षेत्र में सक्रिय ज्ञानदेव नावगछिया बॉल बैडमिंटन संघ के सचिव व राज्य प्रवक्ता भी हैं। आज नावगछिया की बॉल बैडमिंटन टीम का डंका पूरे देश में बज रहा है। विगत वर्षों में नावगछिया की टीम ने कई राज्यस्तरीय प्रतियोगिता में परचम लहराया है। बिहार की पुरुष व महिला टीम में भी नावगछिया के कई खिलाड़ी है।नावगछिया के करीब दो सौ बच्चे इस खेल से जुड़े हैं। कई अपना मुकाम बना चेक हैं।बॉल बैडमिंटन के कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिन्होंने खेल के बल पर सरकारी नोकरी की पात्रता हासिल की है।

घरेलू कबड्डी प्रतियोगिता में लगी थी चोट—

वर्ष 2004 में बेंगलुरु में आयोजित जूनियर नेशनल कबड्डी प्रतियोगिता में ज्ञानदेव ने बिहार प्रदेश टीम का प्रतिनिधित्व किया था। वर्ष 2006 में झंडापुर में आयोजित घरेलू कबड्डी प्रतियोगिता में ज्ञानदेव चोटिल हो गये थे। इसके बाद उन्होंने चोट की वजह से वह चल नहीं पाये।

कहते हैं ज्ञानदेव—

अब तो दर्द की बात पुरानी हो चुकी है।दर्द ने ही साहस दिया एक नया खेल शुरू करने का। नावगछिया बॉल बैडमिंटन संघ में करीब दो सौ बालक ,बालिका ,महिला,पुरुष खिलाड़ी हैं।इनमें वह अपना ही प्रतिरुप देखते हैं।कोई भी जीत या हर खुद की लगती है।विगत कई सालों में नावगछिया बॉल बैडमिंटन टीम अच्छी कर रही हैं।
चार स्टेट लेवल प्रतियोगिता करवाये—

ज्ञानदेव के समर्पण का ही परिणाम रहा कि थाना बिहपुर व नारायणपुर में चार स्टेट लेवल की प्रतियोगिता हुए।2011 व 12 में राज्य स्तरीय सब जूनियर प्रतियोगिता झंडापुर में हुआ।

2015 में सीनियर लेवल गोल्ड कप औऱ 2016 में सीनियर लेवल का एसोसिएशन कप का आयोजन ज्ञानदेव ने सफलतापूर्वक कराया।

Check Also

देवरिया:- नदी में नाव पलटने से एक लड़की की मौत – इडिया न्यूज लाइव डाट नेट न्यूज टीम रिपोर्टर के अनुसार

इडिया न्यूज लाइव डाट नेट न्यूज देवरिया:- रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के ग्राम हरपुर बिंदवलिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

India News Live