Breaking News

सांसदीय चुनाव में चाय-पान की दुकानों पर बनती-बिगड़ती 2019 की चुनावी गणित

कन्हैया महाराज की एक रिपोर्ट।

थाना आलमनगर (मधेपुरा)।

लोकसभा चुनाव की सरगर्मी तेज है। मधेपुरा संसदीय क्षेत्र से 13 प्रत्याशी चुनावी अखाड़े में किस्मत आजमा रहे हैं । इसमें प्रमुख रूप से जाप संरक्षक सह  सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव जाप से , बिहार सरकार के मंत्री दिनेश चंद्र यादव जदयू से एवं शरद यादव राजद के चुनाव चिन्ह से चुनावी अखाड़े में अपना भाग्य आजमा रहे हैं। इस चुनाव को लेकर प्रत्याशी के समर्थकों ने जोड़-तोड़ लगाना शुरू कर दिया है। चाय -पान और नाश्ता की दुकानों से लेकर चौक- चौराहे पर लोगों ने प्रत्याशियों के चयन व उनके जीत -हार के समीकरण तय हो रहे हैं। प्रत्याशियों के शुभचिंतक अनजान लोगों से हालचाल जानने के बहाने चाय की चुस्की और पान की खिल्ली का आनंद के साथ चुनावी राग छेड़ देते हैं । इसके बाद तो सियासी गणित बिठाकर अपने चहेते प्रत्याशी की अप्रत्याशित जीत होने की भविष्यवाणी करते नजर आते हैं ।

मधेपुरा में संभवत: त्रिकोणात्मक मुकाबला के आसार :–

मधेपुरा संसदीय सीट पर त्रिकोणात्मक मुकाबला बनता नजर आ रहा है। जदयू प्रत्याशी दिनेश चंद्र यादव के समर्थकों पीएम और सीएम के विकास कार्य एवं पार्टी आधार पर जीत दर्ज होने का इशारा करते हैं । वही सांसद पप्पू यादब के समर्थक सांसद के कार्यकाल में संसदीय क्षेत्र में विकास के लिए दिन-रात मेहनत करने, गरीबों की तत्परता के साथ सेवा करने एवं मधेपुरा जिले का बेटा रहने की बातें कहकर जीत पक्की होने का दावा करते नजर आते हैं ,जबकि महागठबंधन के प्रत्याशी शरद यादव के समर्थक लालू तेजस्वी और शरद यादव के कार्यकाल में विकास के साथ-साथ जाति धर्म को एकजुटता के साथ रखने की बातें कह कर जीत का दावा कर रहे हैं।

गांव की चौपाल पर सुबह से ही होने लगती है चुनावी चर्चाऐं–

गांव की चौपाल पर भी चुनावी चर्चा सुबह से ही शुरू हो जाती इसमें जितने लोग उतनी बातें होती है। विभिन्न दलों के प्रत्याशियों के समर्थकों अपने-अपने जीत का अलग-अलग तर्क देते नजर आते हैं । मधेपुरा संसदीय क्षेत्र से तीसरे चरण का मतदान की तिथि 23 अप्रैल को निर्धारित है ।

इस लोकसभा चुनाव में भी बहस होना लाजमी है, देखना है कि ऊंट किस करवट बैठेगा यह तो मतगणना के बाद ही पता चल पाएगा । मधेपुरा संसदीय क्षेत्र से 13 प्रत्याशी चुनावी अखाड़े मे अजमा रहे हैं अपनी राजनैतिक  किस्मत।

Check Also

चंदौली:- खस के एक लीटर तेल की कीमत 25 से 30 हजार रुपये, कस की खेती लगाये और कमायें। इडिया न्यूज लाइव डाट नेट न्यूज टीम रिपोर्टर के अनुसार

इडिया न्यूज लाइव डाट नेट न्यूज टीम  चंदौली:- दृढ इच्छाशक्ति सफलता की सबसे बड़ी कुंजी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

India News Live