All for Joomla All for Webmasters

आलमनगर (मधेपुरा):-हर्षोल्लास के साथ मनाया गया पति-पत्नी व पर्यावरण की रक्षा हेतू वट सावित्री पर्व

May 15, 2018

संतोष कुमार झा की एक रिपोर्ट ।

आलमनगर(मधेपुरा)- प्रखंड क्षेत्र में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया वट सावित्री पर्व को लेकर सुबह से ही सुहागिनों की भीड़ आलमनगर के  पुवारी टोला , थाना चौक , अस्पताल गेट के सामने , बाबा सर्वेश्वर पथ सहित अन्य वट वृक्षाें के नीचे एकत्रित होने लगी थी। इस बाबत पूजा करने आए सुहागिनों ने बताया कि हिन्दू धर्म में एक औरत को हमेशा ही पति की परछाई कहा गया है।

साथ ही पति की लम्बी उम्र की प्रार्थना से जुड़े कई व्रत-त्योहार है और इन सब में खास ‘वट सावित्री व्रत है !’ प्रथा पर यदि बात करें तो कहा जाता है कि सावित्री ने अपनी बुद्धि से अपने पति सत्यवान के प्राण की रक्षा यमराज से वर मांग कर की थी । सौ बच्चों का वरदान देने के बाद यमराज सत्यवान के प्राण नहीं ले पाए और चने के रूप में सत्यवान की जान वापस कर दी। यह पर्व सावित्री के असीम प्रेम और दृढ निश्चय को दिखाता है । यह व्रत साबित करता है कि एक सुहागन में इतनी शक्ति है की वो अपने पति के प्राणों की रक्षा यमराज से भी कर सकती है । यह त्योहार औरत की इच्छा शक्ति को और उसके अन्दर की मजबूती और सहनशक्ति को दिखाता है।

पति भक्ति व पत्नी की संस्कार व संस्कृति की यह भारतीय  पर्व वास्तव में हिन्दू धर्मावलंबियों में सदगुण को दर्शाते हुए पर्यावरण की रक्षा हेतू व सनातन धर्म की रक्षा हेतू अमूल्य कही जाती रही है ।

 

Read More

आलमनगर (मधेपुरा):- बाढ़ आने के पूर्वानुमान को लेकर जिलाधिकारी ने इसके बचाव व इससे निपटने के लिए पदाधिकारियों के साथ की बैठक

May 15, 2018

संतोष कुमार झा की एक रिपोर्ट ।

आलमनगर(मधेपुरा)- बाढ़ आने के  पूर्वानुमान को लेकर इसके बचाव व सावधानी के लिए प्रखंड  परिसर स्थित प्रखंड विकास पदाधिकारी कार्यालय में जिला पदाधिकारी मधेपुरा नवदीप शुक्ला ने प्रखंड के स्थानीय पदाधिकारियों के साथ बैठक  किया ।

इस दौरान उपस्थित पदाधिकारियों से  बाढ़ के समय होने वाली परेशानियों की जानकारी ली । वहीं प्रभावित क्षेत्र के लोगों  को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इस पर विस्तार से चर्चा किया। वहीं  बैठक के दौरान  सभी विभाग  के संबंधित पदाधिकारी से रिपोर्ट तलब किया और कार्यप्रणाली में चुस्ती लाने के हिदायत दी। साथ में आपदा के समय किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतने  की हिदायत भी दी ।

इस दौरान SDM जेड हसन, प्रखंड विकास पदाधिकारी मिनहाज अहमद, अंचलाधिकारी विकास सिंह , चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर के एम ठाकुर ,कार्यपालक अभियंता कपोरिया रमेश शाह, पीएचडी समन्व्यक मोहम्मद इम्तियाज सहित सभी विभाग के पदाधिकारी मौजूद थे ।

 

Read More

छपरा:-छपरा कलपंक्ति के छात्रों ने बनाई “मदर डे”सुंदर कलाकृति

May 15, 2018

पन्नालाल कुमार  की एक रिपोर्ट ।

गड़खा (छपरा)-छपरा जिले के स्थानीय कलपंक्ति स्कूल के छात्रों ने मदर डे के मौके पर बनाई सुंदर माँ की कलाकृति  ऐसे तो प्रत्येक जयंती के मौके पर शहर के मशहूर सैंड आर्ट्स देखने को मिलता ही था,लेकिन आज कलपंक्ति के नन्हे- मुन्ने छात्रों की प्रतिभा और गरिमा को देखा ।

कहा जाय तो यह प्रतिभा और गरिमा  कम पर जाएगा। आज पेंटिंग के दुनिया मे बढ़ रहे छात्र-छात्राओं  की रुचि का मिशाल यह पेंटिंग बना है । कलपंक्ति सैंड आर्टस स्कूल छपरा के सैंड आर्ट्स अशोक कुमार ने बताया कि हर युवाओं के अंदर एक कला हैं हर एक युवा कलाकार हैं।

हर युवा को कला से जुड़ना चाहिए और आपने गाव देश का नाम रौशन करने को आगे आना  चाहिए। इस अवसर पर मौजूद कलाकार पवन ,उजाला, कल्पना, राजीव, अर्चना किशोर, चंचल, कृतिका रहे  ।

Read More

छपरा:-बिहार के सिनेमाई इतिहास पर पहली बार प्रकाशित होगी पुस्तक

May 15, 2018

पन्नालालकुमार  की एक रिपोर्ट ।

छपरा-बेगूसराय,बिहार की मिट्टी ने प्रायः सामाजिक विकास के सभी प्रारूपों में अपनी शानदार उपस्थिति राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय क्षितिज पर दर्ज़ की है किंतु फिर भी भारतीय सिनेमा इंडस्ट्री में उल्लेखनीय भूमिका के बावजूद बिहार के सिनेमाई इतिहास को दुर्भाग्यपूर्ण रूप से आजतक लिपिबद्ध नहीं किया जा सका।पर्याप्त सरकारी सहायता के अभाव के बावजूद बिहार में सिनेमा इंडस्ट्री का विकास होना यहाँ के कलाकारों के लगन, उत्साह व अपने कर्तव्य के प्रति ईमानदारी को परिलक्षित करता है।

बिना कोई सरकारी मदद के बिहार के लगभग सभी जिलों में लगातार सिनेमाई गतिविधियां सक्रिय है और वे बिहार में फ़िल्म विकास में सतत प्रयत्नशील है यह काबिले तारीफ बात है।इसी कड़ी में पिछले दिनों चर्चित बॉलीवुड अभिनेता अमित कश्यप द्वारा बेगुसराय में स्थापित बिहार की पहली फिल्मसिटी के सभागार में सिनेमाई कलाकारों की बैठक में बिहार के सिनेमाई इतिहास को प्रकाशित करने का निर्णय किया गया।”सिने अभियान” नाम से प्रकाशित की जाने वाले इस स्मारिका में सिनेमा के सौ वर्षों में बिहार की भूमिका को रेखांकित किये जाने का प्रस्ताव सर्वसम्मति से लिया गया। श्री कश्यप ने बैठक में कहा कि पुस्तक में बिहार के सभी 38 जिलों से जुड़े उल्लेखनीय सिनेमाई कलाकारों का विवरण के साथ उनकी उलब्धियों का समावेश होगा और इसी वर्ष समारोह आयोजित कर उसका लोकार्पण किया जाएगा,जिसमें बिहार के मुख्यमंत्री,उप मुख्यमंत्री,भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्री आदि को आमंत्रित करने की योजना है।उन्होंने कहा कि स्मारिका के संपादन की ज़िम्मेदारी वरिष्ठ साहित्यकार नरेंद्र कुमार सिंह को दी गयी है।मौके पर उपस्थित एसोसिएशन के संरक्षक मिथिलांचल के प्रसिद्ध साहित्यकार चाँद मुसाफ़िर ने कहा कलाकारों द्वारा बिहार में अपने दम पर सिनेमा इंडस्ट्री को खड़ा करना असंभव को संभव करने वाला कदम है और इस प्रयास की जितनी प्रशंसा की जाय कम होगी।उन्होंने यह भी कहा कि अब वह दिन दूर नहीं जब बिहार की प्रतिभा अपने यहाँ से भी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय क्षितिज पर अपना लोहा मनवा सकते हैं।साहित्यकार नरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि बिहार में सिनेमाई क्रांति का सूत्रपात बेगूसराय से शुरू हो चुका है और अब ज़िले को इस क्षेत्र में सम्मान की दृष्टि से देखा जा रहा है।

मौके पर फ़िल्म निर्देशक सागर सिन्हा,शिक्षक नेता अमरेंद्र कुमार सिंह,राकेश महंथ,अरविंद पासवान,अजय अनंत,रंजीत गुप्त आदि थे।

Read More

चौसा(मधेपुरा):-चौसा के स्वच्छाग्रही सह इंडिया न्युज लाइव.नेट के चौसा के पूर्व रिपोर्टर “शहंशाह” पटना में हुये सम्मानित

May 15, 2018

नरेश व्यास की एक रिपोर्ट ।

■ शारीरिक विकलांगता के बावजूद इनमें गजब का हौसला

चौसा(मधेपुरा)-‘”खुदी को कर बुलंद इतना के हर तकदीर से पहले,खुदा बंदे से खुद पूछे बता तेरी रजा क्या है!“उक्त पंक्ति शहंशाह कैफ के लिए सर्वथा प्रासंगिक है। कहते हैं हौसले बुलंद हों, मन में जुनून हो और लक्ष्य भेदने का अटल संकल्प हो तो फिर कोई बाधा आगे टिक नहीं सकता।  कदाचित् कठिन परिस्थिति और शारीरिक विकलांगता के बावजूद उनमें गजब का हौसला है। पैर से दिव्यांग रहने के बावजूद उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारा ।अनुकरणीय मेहनत के बदौलत अपने कार्यक्षेत्र  में शहंशाह ने भी लक्ष्य भेद किया है । शहंशाह,मधेपुरा जिलान्तर्गत चौसा प्रखंड के फुलौत पंचायत के निवासी हैं। बतादें स्वत्रन्त्र लेखनी में शुरूआत इनका पूर्व में इंडिया न्यूज लाइव.नेट ,चौसा  (मधेपुरा) बिहार से रहा है। समाज सेवा की वजह व इसके वशीभूत वे “लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान” से जुड़ गए। अभियान में उन्हें फुलौत पंचायत में स्वच्छाग्रही की जिम्मेदारी दी गई । फिर क्या था वे कभी अपनी तिपहिया साइकिल तो कभी सड़कों -पगडंडियों पर घिसटते हुए जनमानस को खुले में शौच से रोकने केलिए  घर -घर दस्तक देने लगे। उनका प्रयास रंग लाया और फुलौत में घर -घर शौचालय निर्माण कराने में काफी सफलता हासिल  की । उनकी इस उपलब्धि से प्रभावित होकर स्वच्छ भारत अभियान में उनकी स्टोरी छापा और आज सोमवार 14 मई को पटना में आयोजित एक राजकीय समारोह में उन्हें प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। लिहाजा आज चौसा प्रखंड में हर्ष व्याप्त है और लगातार बधाईयां मिल रही हैं । सनद रहे कि स्वच्छाग्रही शहंशाह कैफ की उपलब्धि से प्रभावित होकर जिला प्रशासन, मधेपुरा द्वारा उन्हें सम्मानित करने के लिए राज्य मुख्यालय को अनुशंसा की  थी। अनुशंसा के आलोक में लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के राज्य समन्वयक ने अपने पत्रांक 117 दिनांक 11 मई 2018 के द्वारा शहंशाह को सम्मान ग्रहण करने के लिए आमंत्रित किया था। ज्ञातव्य है कि आज सोमवार 14 मई 2018 को पुराना सचिवालय, पटना स्थित अधिवेशन भवन में आयोजित राजकीय समारोह में शहंशाह को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया । शहंशाह की इस उपलब्धि से उसके गांव फुलौत सहित चौसा प्रखंड में हर्ष व्याप्त है।

शहंशाह का कहना है कि जिला कॉडीनेटर,जेडएसबीपी मो0 खालिद,बीसी इमित्याज आलम,बीडीओ मो0 ईरफान अकबर के बदौलत उनको यह सम्मान मिलि है जिसे भुलाया नहीं जा सकेगा ।

 

 

Read More

परसा(सारण):-कदाचार करते पकड़े जाने पर तीन छात्रों को परीक्षा से किया गया निष्कासित

May 15, 2018

विकास कुमार की एक रिपोर्ट।

परसा(सारण)-प्रभुनाथ महाविद्यालय परसा के परीक्षा केंद्रों पर चल रहे स्नातक पार्ट थ्री की परीक्षा के पांचवे दिन औचक निरीक्षण करने जेपी विश्वविद्यालय के कुलपति हरिकेश सिंह पहुचे इसी दौरान परीक्षा में नकल कर रहे द्वितीय पाली के छात्र राजु कुमार,राजेश कुमार सिंह तथा तेजु कुमार बैठा को नकल करते पकड़े जाने पर जय प्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति हरिकेश सिंह द्वारा परीक्षा से निष्कासित कर दिया गया।

परीक्षा से निष्कासित किये गये छात्रों का नाम और रौल न0 इस प्रकार हैं।

1,राजेश कुमार सिंह रौल न° 14500378

2. राजु कुमार रौल न•14500380

3. तेजु कुमार बैठा रौल न• 12005963

Read More

बिदूपुर(वैशाली):- घनी आबादी वाले क्षेत्र में चल रहे मुर्गा फार्म से बढ़ रही बीमारियां, प्रशासनिक पदाधिकारी मौन

May 15, 2018

प्रेम कुमार की एक रिपोर्ट ।

बिदुपुर(वैशाली)-बिदुपुर थाने क्षेत्र के मथुरा गांव में हाजीपुर महनार मुख्य मार्ग से उत्तर दो बड़ा मुर्गी फार्म चल रहे है। जो बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देश की धज्जी उड़ा रहे है। जिसके कारण सघन बस्ती में रहने वाले ग्रामीण लोग दुर्गन्ध फैलने से काफी भयभीत नजर आ रहे है।मुर्गी फार्म को बन्द कराने को लेकर सीमा सुरक्षा  के जवान हरेंद्र कुमार पिता स्वर्गीय चन्द्रदीप राय जो गुजरात के कच्छ भुज में पदस्थापित है। कई दर्जनों ग्रामीणों के संयुक्त हस्ताक्षर से एक ज्ञापन तिरहुत कमिश्नर,जिला अधिकारी वैशाली सहित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आदि को भी दिये है।उन्होंने वरीय पदाधिकारी से गुहार लगाते हुए आग्रह किया है की उनके घर से मात्र 30 फिट पर एक मुर्गी फार्म और 50 फिट की दूरी पर दूसरा मुर्गा फार्म उनके मदन भगत और संजीव कुमार ने खोल रखा है।जिसके कारण उनके परिवार और आस पड़ोस के लोगों का दुर्गन्ध के कारण उठना बैठना जीना हराम हो गया है।स्थानीय लोग किसी गम्भीर बीमारी होने की खतरा से भी भयभीत है चूंकि वहीँ अपने पुत्री के यहाँ रह रहे ध्यान राय की निधन स्वाईन फ्लू की वजह से हो गई थी। सीमा सुरक्षा बल के जवान हरेंद्र कुमार ने आरोप लगाया की जब वे ग्रामीणों के साथ मुर्गी फार्म को अन्यत्र स्थानांतरण करने के लिए जाकर कहा तो  फार्म संचालक के द्वारा गाली गलौज एवम मारपीट पर उतारू होने का भी आरोप लगाया।

जबकि बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद के द्वारा गत 4 जुलाई 2017 को ही जिलाधिकारी वैशाली को जल प्रदूषण निवारण एवम नियंत्रण अधिनियम 1974 तथा वायु प्रदूषण निवारण एवम नियंत्रण अधिनियम 1981 के प्रावधानों के तहत अवैध रूप से आवासीय क्षेत्र में स्थित है,जिसे बन्द कराये जाये। नियमानुसार फार्म सघन बस्ती से 300 मीटर के बाद होना चाहिए था ,जबकि मथुरा स्थित दोनो मुर्गा फार्म मदन भगत का30 फिट और संजीव कुमार का लगभग 75 फिट के अंदर ही सघन बस्ति में फार्म स्थित है।जिसे प्रदूषण नियंत्रण पर्षद द्वारा तत्काल प्रभाव से बन्द कराने का आदेश दिया गया था,उसके बाद भी मुर्गी फार्म चल ही रहा है।इस सम्बन्ध में गत 2 अगस्त 2017 को बिदुपुर अंचलाधिकारी द्वारा भी  दो दिनों के अंदर सघन बस्ती स्थित मुर्गा फार्म को बन्द करने का भी निर्देश दिया गया था परन्तु बन्द नही किया गया और धड़ल्ले से संचालक द्वारा  मुर्गी फार्म का सन्चालन किया जा रहा है।उसके बाद भी स्थानीय अधिकारी द्वारा संचालक के विरुद्ध प्राथमिकी भी दर्ज नही कराया गया। इस सम्बन्ध में सी एम,उप मुख्यमंत्री,एस पी वैशाली,एस डी ओ हाजीपुर आदि को भी दिया है। वही ग्रामीणों को आशंका है की कही बर्ड फ्लू स्वाइन फ्लू की तरह के रोग मुर्गी आदि में फैल गया तो उसका प्रभाव आस पास के लोगों पर भी पड़ेगा।घर आये बी एस एफ के जवान हरेंद्र कुमार मुर्गी फार्म को बन्द कराने को लेकर सभी वरीय पदाधिकारी के कार्यालय का चक्कर लगा रहा है,परन्तु अब तक उन्हें इंसाफ नही मिला है।सीमा की रक्षा करने वाला जवान स्वयम अपने परिवार और अन्य सदस्यो को प्रदूषण के खतरे से नही बचा पा रहा है,वह काफी विवश नजर आ रहा है।उसे वर्तमान में आये नये डी एम से काफी उम्मीद है,उसने ग्रामीणों का हस्ताक्षर युक्त एक ज्ञापन डी एम को भी बन्द कराने के लिए दिया है।ताकि प्रदूषण से बचा जा सके।इस सम्बन्ध में स्थानीय पंचायत सचिव शैलेन्द्र ने भी जांच रिपोर्ट में एक फार्म बस्ती से उत्तर दिशा में साढ़े 48 फिट पर है जबकि दक्षिण दिशा में घर से दूरी साढ़े 73 फिट फार्म की है।

ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने वाले ग्रामीणों में हरेंद्र कुमार,राम लखन सिंह,राम नरेश सिंह,रेणु देवी,ज्योति कुमारी,जितेंद्र सिंह,इंदिरा सिंह,नारायण सिंह,अजित कुमार सिंह,राम ईश्वर सिंह,हरिहर राय,अभिषेक कुमार सिंह सहित लगभग चार दर्जन ग्रामीणों ने आवेदन पर हस्ताक्षर कर के जिला पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी से जिंदगी जीने की गुहार लगा रही हैं।

Read More

किशनगंज:-बीडीओ ने स्वच्छता मिशन को लेकर की समीक्षा बैठक

May 15, 2018

विजय कुमार साह की एक रिपोर्ट ।

किशनगंज:-प्रखंड मुख्यालय स्थित सभागार भवन में स्वच्छता अभियान को लेकर बीडीओ सुरेंद्र तांती ने प्रखंड के कर्मचारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई। बैठक की अध्यक्षता प्रखण्ड विकाश पदाधिकारी सुरेन्द्र तंति  ने किया। बैठक में मुख्य रुप से कार्यक्रम पदाधिकारी भाई रमन, सांख्यिकी पदाधिकारी प्रदीप कुमार , बीएमपी अखिलेश कुमार, प्रचार प्रसार पदाधिकारी कलानंद दास, पंचायती राज पदाधिकारी सूर्य शेखर शर्मा, सभी पंचायत के पंचायत सेवक, रोजगार सेवक ,आवास साहयक , किसान सलाहकार  प्रेरक सहित सभी एलएस बैठक में शामिल हुए। बैठक में बीडीओ ने सभी प्रखंड कर्मचारियों को अब तक कितने कार्य स्वच्छता अभियान को लेकर किए गए उसका समीक्षा की जानकारी ली और स्वच्छता अभियान को लेकर सजग रहने को कहा गया।  वहीं सुबह शाम वार्ड में जाकर लोगों को शौचालय बनाने को लेकर जागरूक तथा प्रेरित करने को कहा । उन्होंने कहा कि  किसी भी तरह की कोताही और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी ।

हर हाल में टेढागाछ प्रखंड के सभी पंचायतों के सभी वार्ड को सौच मुक्त करना ही सबसे बड़ा लक्ष्य है। इसलिए सभी को चुस्त दुरुस्त रहने की जरूरत है, और कार्य तेजी लाने की जरूरत है।

Read More